Office Time:  9:00 AM‑9:00 PM
WhatsApp:  88661 88671

Articles On Astrology

AstroPath > Articles On Astrology
अगस्त  राशिफल -2021

अगस्त राशिफल -2021

🌹तस्मै श्री गुरूवै नमः🌹

❇️  यह राशिफल आपकी चंद्र राशि पर आधारित है।  ❇️🙏कृपया व्यक्तिगत कुंडली के फलादेश के लिए ना पूछे..🙏

🕉0⃣1⃣🐑मेष :~ अ, ल, इ🔴: माह अगस्त 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:सूर्य इस मास 16 अगस्त से सिंह राशिगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत सिंह राशि गत गोचर करेंगे। श्री बुध 08 अगस्त से सिंह राशि तथा 26 अगस्त से कन्या राशि मे गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् कुम्भ राशि गत गोचर करेंगे। श्री शुक्र 11 अगस्त से कन्या राशि गत करेंगे। श्री शनि पूर्ववत मकर राशि में गोचर करेंगे। राहू का गोचर पूर्ववत वृष राशि एवं केतु का गोचर पूर्ववत वृश्चिक राशि में रहेगा।कैरियर एवं व्यवसायः सन् 2021 अगस्त माह में मेष राशि के जातक एवं जातिकाओं को शैक्षिक पहलुओं को मजबूती देने के अवसर बने रहेगे। यदि क्रीड़ा व प्रतियोगी क्षेत्रों से जुड़े है, तो यह गोचर अनुकूल रहेगा। हालांकि इस माह के पहले दो सप्ताहों तक प्रतिद्वन्दी आपके मान-सम्मान को ठेस पहुंचाने वाला रहेगा। किन्तु 16 जुलाई से पुनः कामों को साधने में अच्छी प्रगति रहेगी। और कैरियर व व्यवसाय को अंतिम रूप देने की बातें जोर में रहेगी। यदि आप ओैद्योगिक इकाइयां के स्वामी है। तो इस माह किसी वरिष्ठ अधिकारियों के मध्य कामों की प्रगति की समीक्षा बैठक रहेगी। यानी कैरियर व व्यवसाय के दृष्टिकोण से श्री सूर्य का गोचर चुनौती से भरा हुआ रहेगा। वहीं श्री मंगल का गोचर भी कुछ कमजोर स्थिति में रहेगा। जिससे तकनीक व सुरक्षा तथा चिकित्सा आदि के क्षेत्रों में कैरियर को साधनें की लगातार चुनौती व कष्ट मिलते रहेंगे। किन्तु गुरू का गोचर कई अवरोधों को हटाने में सहायक रहेगा। जिससे सफल होते रहेंगे।प्रेम एवं संबंधः माह अगस्त 2021 मेष राशि वाले को स्वजनों के साथ किसी ऐसी बात से बचना चाहिये, जो कि रिश्तों की मधुरता को आघात पहुंचाने वाली हो। क्योंकि इस अगस्त माह का गोचर घर में किसी बुजर्ग व्यक्ति के प्रति अधिक सजग रहने के संकेत देता हुआ रहेगा। या फिर किसी सदस्य के बर्ताव को लेकर सतत् परेशानी रहेगी। प्रेम संबंधों में यह गोचर साथी के मध्य तनाव तथा अविश्वास को देने वाला रहेगा। जिन्हें आप दिल से चाहते हैं, उन्हें ऐसा लग सकता है। कि आप उनसे कुछ बातों को छिपा रहे हैं। क्योंकि श्री सूर्य व मंगल का गोचर संबंधों को चाहे वह जिनी रिश्तें हो या फिर घर व समाज को चलाने की बातें हों, अधिक अनुकूल नहीं रहेगा। किन्तु शुक्र का गोचर न केवल प्रेम संबंधों को साधनें मे सहायक होगा। बल्कि परिवार में सकारात्मक महौल बनाने के अवसरों को भी देने वाला रहेगा। हालांकि 11 अगस्त तक शुक संबंधों को मधुर बनाने की दृष्टि से सकारात्मक रहेगा। किन्तु इसके पश्चात् संबंधों में मधुर संवादों का क्रम कमजोर रहेगा।वित्तीय स्थितिः अगस्त 2021 में मेष राशि के जातक एवं जातिकाओं को पैसे व प्रतिष्ठा कमाने के पर्याप्त अवसर रहेगे। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर जहॉ आपके वित्तीय संस्थानों को प्रभावशाली बनाने वाला रहेगा। वहीं मंगल का गोचर हित साधक व ऊर्जा को बढ़ाने वाला रहेगा। वहीं श्री शुक्र का गोचर भी इस माह के 12 अगस्त से और अधिक धन लाभ दिलाने वाला रहेगा। यानी आर्थिक मामलों में छोटी-छोटी बातों के छोड़ दे तो कुल मिलाकर यह गोचर वांछित परिणामों को देने वाला रहेगा। पणिमतः आप अपने संस्थानों की साज-सज्जा बढ़ाने व तय वक्त में कामों को पूरा करने में लगे हुये रहेंगे। यदि किसी से ऋण ले रखा हैं, तो भी यह गोचर चुकाने में सार्थक रहेगा। यानी इस माह धन का आभाव समाप्त होने के संकेत रहेंगे। परिणामतः धन संग्रह व रहन-सहन में अच्छे सुधारों की स्थिति रहेगी। जिससे स्वादिष्ट व्यंजनों का आनन्द व सुन्दर शयन कक्ष को निर्मित करने तथा हितकर सुविधाओं को जुटाने में यह गोचर कारगर सिद्ध रहेगा।शिक्षा एवं ज्ञानः अगस्त 2021 में मेष राशि के जातक एवं जातिकायें न केवल किताबी ज्ञान बल्कि व्यवहारिक ज्ञान को उच्च करने में सक्षम रहेगे। जिससे इस माह किसी प्रगोगशाला में जाने का विचार रहेगा। जिससे रसायन व जीव विज्ञान तथा तकनीक व सुरक्षा से जुड़े यंत्र मशीन आदि की क्रिया को समझने में सक्षम रहेंगे। हालांकि कुछ बातों में शिक्षक व प्रशिक्षक से फटकार मिलती हुई रहेगी। ऐसे में मंगल का गोचर आपको उत्तेजित करने वाला रहेगा। अतः छोटी-छोटी बातों को सम्मान से जोड़कर न देखें। अन्यथा हानि की स्थिति रहेगी। वहीं फिल्म कला, संगीत के ज्ञान का या फिर प्रतियोगी क्षेत्रों के ज्ञान को उम्दा किस्म का बनाने में प्रगति रहेगी। वहीं श्री शुक्र का गोचर शिक्षा व ज्ञान के सिलसिले में दूरस्थ स्थानों की यात्रा में भेजने वाला रहेगा। यानी अगस्त माह का ग्रहीय गोचर आपके कार्मिक व व्यापारिक ज्ञान को शानदार बनाने वाला रहेगा। किन्तु पढ़ने लिखने व विषयो की तैयारी के तौर तरीकों को और समुचित करने की जरूरत रहेगी।स्वास्थ्यः अगस्त 2021 में मेष राशि के जातक व जातिकाओं को राशि स्वामी श्री मंगल का गोचर स्वास्थ्य के लिहाज से बहुत उपयुक्त नहीं रहेगा। जिससे शरीर में रक्त विकार व पीड़ाओं की स्थिति बनी हुई रहेगी। अतः इस माह आपको सेहत को विकसित करने में ध्यान देने की जरूरत रहेगी। चाहे वह छोटे-छोटे प्रयासों के द्वारा ध्यान व पौष्टिक क्रियाओं को अपनाने की बातें हो या फिर अन्य दूसरे प्रयास हो। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर इस माह के शुरू से ही सेहत के लिए बहुत अच्छा नहीं रहेगा। वहीं राशि स्वामी श्री मंगल का गोचर भी शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमाताओं को उच्च करने में ज्यादा कारगर नहीं रहेगा। अतः ग्रहीय गोचरीय क्रम में यद्यपि शरीर में रोग व पीड़ाओं के बढ़ जाने की स्थिति रहेगी। किन्तु श्री शुक्र व गुरू का गोचर हालांकि शुभता को देने वाला रहेगा। परिणामतः सेहत को सुन्दर व ताकत वार बनाने में आपका यकीन बढ़ा हुआ रहेगा। यानी ग्रहीय गोचर में देखे तो मिश्रित परिणाम निकल कर सामने आ रहे हैं। अतः लापरवाही न करें।

🕉0⃣2⃣🐂वृषभ :~ ब, व, उ🔴: माह अगस्त 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:सूर्य इस मास 16 अगस्त से सुख भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत सुख भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 08 अगस्त से सुखभावगत 26 अगस्त से सुत भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत कर्म भावगत गोचर करेंगे। श्री शुक्र 11 अगस्त से सुत भाव गत गोचर करेंगे। तथा श्री शनि पूर्ववत भाग्य भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर पूर्ववत लग्न भावगत एवं केतू का गोचर पूर्ववत दारा राशि में रहेगा।कैरियर एवं व्यवसायः सन् 2021 अगस्त माह में वृष राशि के जातक एवं जातिकाओं को उत्पादन व विक्रय को विकसित करने व तय वक्त में उत्पादों को बाजार में उतारने की    भाग-दौड़ रहेगी। परिणामतः संबंधित कार्यालय व कारखानों में मशीनों को जुटाने व उनकी गुणवत्ता को बढ़ाने की चुनौती रहेगी। यदि आप निजी व सरकारी क्षेत्रों के कर्मचारी या अधिकारी हैं, तो संबंधित प्रबंधन समिति की समीक्षा बैठक करने की जरूरत रहेगी। इस माह का गोचर प्रतियागी क्षेत्रों में उम्दा किस्म की सफलता को देने वाला रहेगा। यदि आप प्रबंधन, सुरक्षा, विक्रय, उत्पादन व चिकित्सा आदि के क्षेत्रों में कैरियर को संवारने की मंशा से युक्त हैं, तो यह गोचर आपके लिए हित साधक बना हुआ रहेगा। किन्तु पूरे मन से प्रयासों को जारी रखने तथा उनकी दिशा व दशा को तय करने में ध्यान रहें। वैसे राशि स्वामी श्री शुक्र की गोचरीय स्थिति सौदर्य, कला, विज्ञान, फिल्मांकन के क्षेत्रों में भी स्थाई विकास को निर्मित करने के अससरों से युक्त रहेगा।प्रेम एवं संबंधः माह अगस्त 2021 में वृष राशि के जातक एवं जातिकायें भाई व बहनों के साथ समांजस्य बनाने में लगे हुये रहेगे। यदि किसी बात में मतभेद हैं, तो उन्हें दूर करने में अच्छी प्रगति बनी हुई रहेगी। क्योंकि राशि स्वामी शुक्र की गोचरीय स्थिति शुभ संकेतों से युक्त रहेगी। वहीं श्री सूर्य का गोचर सामाजिक व राजनैतिक संबंधों को सुधारने के सिलसिले में दूरस्थ स्थानों की यात्रा को देने वाला रहेगा। इन कोशिशों में इस माह के पहले दो सप्ताहों तक अधिक सफलता रहेगी। किन्तु 17 अगस्त से प्रेम व संबंधों में श्री सूर्य का गोचर अधिक सकारात्मक परिणामों को देने वाला नहीं रहेगा। अतः सजग होकर चले और किसी को अप्रिय न कहें, अन्यथा हानि की स्थिति रहेगी। वहीं राशि स्वामी श्री शुक का गोचर प्यार व चाहत के मामलों में उपयुक्त रहेगा। जिससे उनके मध्य विश्वास बढ़ाने में सक्षम रहेंगे। वहीं संतान पक्ष को लेकर यह गोचर अनुकूलता से युक्त रहेगा। किन्तु यह गोचर छोटी-छोटी बातों में तनाव को देने वाला रहेगा। अतः सावधानी बनाकर चलने में फायदा रहेगा।वित्तीय स्थितिः अगस्त 2021 वृष राशि के जातक एवं जातिकायें वित्तीय देयताओं को चुकाने व यश कीर्ति अर्जित करने में सफल होते रहेंगे। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर इस माह के शुरूआत से ही लाभप्रदता को बढ़ाने में सहायक रहेगा। परिणामतः धन का संचय वित्तीय नियमितता के स्तम्भों को मजबूती देने की जरूरत रहेगी। हालांकि पूंजी गत लाभ बढ़ाने व निजी व सरकारी संस्थाओं में संबंधित अनुबंधों को पूरा करने में यह गोचर सहायक रहेगा। यदि आप अपने सेवाओं को विस्तार देने और धनार्जन को बढ़ाने की कोशिश में है। तो इस माह के 16 अगस्त तक अच्छी कामयाबी के योग रहेंगे। यदि आप सामान्य काम-काजी है। तो भी यह गोचर न केवल भरण पोषण के लिए धन दिलाने वाला रहेगा। बल्कि घर की माली हालत को सुधारने व अच्छे रहन-सहन की की ओर बढ़ाने में अनुकूल रहेगा। किन्तु 17 अगस्त से श्री सूर्य का गोचर धन कमाने में कठिनाइयों व प्रतिकूलताओं की स्थिति को देने वाला रहेगा। वहीं मंगल का गोचर भी आपके तालमेल को खराब करने वाला रहेगा।शिक्षा एवं ज्ञानः अगस्त 2021 में वृष राशि के जातक एवं जातिकायें रोजगार परक विद्याओं को अर्जित करने तथा शैक्षिक लक्ष्यों को भेदने में सक्षम होते रहेंगे। बहुत सम्भव है। कि इस माह देश व विदेश स्तर की प्रतियोगिता में भाग लेने व सफलता का तमगा मंढ़ने में सक्षम रहेंगे। यानी यह गोचर आपकी सोच से बेहतर इस माह के पहले दो सप्ताहों तक अनुकूलता को दिलाने वाला रहेगा। क्येंकि श्री सूर्य यश व कीर्ति को देने वाले रहेंगे। यदि आप औषधी निर्माण व विक्रय तथा तकनीक व आध्यात्मिक शिक्षा में महारथ हासिल करने की जिज्ञासा रखते है। तो यह गोचर बेहतर परिणामों को देने वाला रहेगा। किन्तु इस माह के तीसरे सप्ताह से पुनः कार्मिक व पाठ्यक्रमों के ज्ञान व उनमें ख्याति को लेकर परेशान रहेंगे। अतः अपने स्तर पर धैर्य व बौद्धिकता को कायम रखें, अन्यथा विरोधी पक्ष आपके खिलाफ माहौल बनाने व पिछले पायदान पर ले जाने की सजिश में रहेंगे। कुल मिलाकर पढ़ने लिखने व ज्ञान को प्रखर करने में यह माह ठीक रहेगा। किन्तु छोटी-छोटी परेशानियां हो सकती है।स्वास्थ्यः अगस्त 2021 में वृष राशि के जातक एवं जातिकाओं को राशि स्वामी श्री शुक्र की गोचरीय स्थिति हालांकि बेहतर स्वास्थ्य की तरफ संकेत करती हुई रहेगी। जिससे शरीरिक शक्ति व मनोबल के उच्च होने के आसार रहेंगे। किन्तु श्री सूर्य का गोचर आपके आत्मबल को बढ़ाने में ठीक रहेगा। हालांकि स्वभाव में जिद् व गुस्से को देने वाला रहेगा। तथा भौम का गोचर यद्यपि शरीर में रोग व पीड़ाओं के उभरने के संकेत दे रहा हैं, अतः अपने खान-पान व व्यायाम को दुरूस्त रखें। तो अच्छा रहेगा। यानी इस माह के पहले दो सप्ताहों तक सेहत में सकारात्मक स्थिति बनी रहने के पूरे आसार है। किन्तु इसके पश्चात् श्री सूर्य व भौम का गोचर शरीर में नश व नाड़ी के दोषों को देने वाला रहेगा। तथा छोटी-छोटी पीड़ाओं के बढ़ जाने के आसार रहेंगे। कुल मिलाकर यह गोचर शरीर में मिश्रित परिणामों को देने वाला रहेगा। अतः अपने स्तर पर खान-पान का पूरा ध्यान दें। तो अच्छा रहेगा। अन्यथा पाप ग्रहीय गोचर परेशान करने वाला रहेगा। 

🕉*卐0⃣3⃣💑मिथुन :~  क, छ, 🔴: माह अगस्त 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:सूर्य इस मास 16 अगस्त से पराक्रम भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत् पराक्रम भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 08 अगस्त से पराक्रम भावगत तथा 26 अगस्त से सुख भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् भाग्य भावगत गोचर करेंगे। तथा शुक्र 11 अगस्त से सुख भावगत गोचर करेंगे। तथा श्री शनि पूर्ववत अष्टम भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर पूर्ववत व्यय भाव में एवं केतू का गोचर पूर्ववत रोग भाव में गोचर करेंगे।कैरियर एवं व्यवसायः अगस्त 2021 में मिथुन राशि के जातक एवं जातिकायें उज्जवल भविष्य की राह को निर्मित करने में दिलचस्प बने हुये रहेंगे। चाहे व उद्योग धंधों को सफल बनाने व सुरक्षा तथा निर्माण के कार्य व व्यापार हो। यह गोचर अनुकूल बना हुआ रहेगा। यदि आप निजी व सरकारी क्षेत्रों में सेवाओं को देने के उत्सुक है। तो इस माह का गोचर हालांकि पहले दो सप्ताहों तक कठिन बना हुआ रहेगा। किन्तु बाद में 17 अगस्त से आपके यश व कीर्ति को बढ़ाने वाला रहेगा। यदि आप कार्यरत है। तो मान-सम्मान व अधिकारों को बढ़ाने की बातें जोर पकड़ती हुई रहेगी। या फिर नये सिरे से रोजगार की तलाश में हैं, तो यह गोचर अधिक कामयाब रहेगा। यानी दिये हुये आवेदन स्वीकार किये जायेगे। तथा नियुक्ति पत्र मिलने के आसार रहेंगे। यदि आप व्यवसायी है। तो इस माह का गोचर उत्पादन व विक्रय में वांछित लाभांश को बढ़ाने वाला रहेगा। क्योंकि श्री सूर्य व भौग का गोचर अनुकूलता देने वाला रहेगा। वहीं गुरू भी सुख व सौभाग्य बढ़ाने में सक्षम रहेंगे।प्रेम एवं संबंधः अगस्त 2021 में मिथुन राशि के जातक व जातिकायें घर व परिवार में संस्कारो की अलख जगाने व मानवीय संवेदानाओं से जुड़ने में जोर देगे। परिणामतः ग्रहीय गोचर के कारण उत्पन्न झगड़े आदि जो कि संबंधों में आक्रोश को पैदा करने वाले हैं उन्हें दूर करने में इस माह लगातार प्रगति रहेगी। किन्तु स्वजनों के मध्य इस माह परस्पर हितों के टकराव होने से श्री सूर्य का गोचर तीखी नोंक-झांंक को देने वाला रहेगा। किन्तु अपने स्तर पर सावधानी बनाकर चलने से फायदा रहेगा। क्योंकि इस माह के पहले दो सप्ताहों तक बौद्धिक आधार के सहारें सही समय सही निर्णय करने में सक्षम रहेगे। तो इस माह के तीसरे सप्ताह से श्री सूर्य व भौम का गोचर पुनः घर व परिवार में तथा प्रेम संबंधों में चाहत को विकसित करने वाला रहेगा। जिससे संबंधों में मधुरता की बयार रहेगी। यानी आपके संबंधों में चाहत है तो और घनिष्ठ रहेंगी। किन्तु निजी संबंधों में तकरार है। तो वह सामान्य स्तर के रहेंगे। यानी ग्रहीय गोचर सकारात्मक होकर अगले पायदान पर बढ़ाने वाला रहेगा।वित्तीय स्थितिः अगस्त 2021 में मिथुन राशि के जातक एवं जातिकायें अचल सम्पत्ति के निर्माण व उसके संरक्षण को लेकर कुछ चुस्त बने हुये रहेंगे। जिससे अनापेक्षित अतिक्रमण को हटाने में सक्षम रहेंगे। वहीं संबंधित आय के स्रोतों को ताकतदार बनाने व मशीनों के सही प्रयोग से धन को संग्रहित करने में प्रगति बनी हुई रहेगी। वैसे इन प्रयासों में आपको दूरस्थ क्षेत्रों की यात्रा व कुछ समय तक प्रवास करने की जरूरत बनी हुई रहेगी। वहीं श्री सूर्य का गोचर कार्य व व्यापार में चल रही खींचा-तान को दूसरे सप्ताह से लाभप्रद बनाने वाला रहेगा। जिससे आर्थिक मोर्चे पर वांछित लाभ के आसार रहेंगे। यानी इस माह लाभांश तो रहेगा। किन्तु कुछ व्यय की स्थिति भी रहेगी। कुल मिलाकर यह गोचर सभी व्ययों को घटाने के बाद भी आपके लिए फायदेमंद रहेगा। वहीं गुरू का गोचर धन लाभ को उन्नत करने वाला रहेगा।  यानी इस माह का गोचर मुनाफे वाला रहेगा।शिक्षा एवं ज्ञानः अगस्त 2021 में इस राशि के जातक एवं जातिकायें शैक्षिक पहलुओं को सुधारने व कामों को आगे बढ़ाने के क्रम में सफल होते रहेंगे। किन्तु माह के पहले दो सप्ताहों तक संबंधित उच्च शिक्षा व विश्वविद्यालय स्तर की शिक्षा हेतु भाग दौड़ करना पड़ेगा। यदि आप खेल व हुनर को निखारने की शिक्षा से जुडे़ हैं, तो कहीं लंबी व लाभकारी यात्रा में जाने के योग बने हुये रहेंगे। वहीं माह के तीसरे सप्ताह से संबंधित प्रतियोगी क्षेत्रों व क्रीड़ा के क्षेत्रों में आपके दमदार प्रदर्शन की हर कोई सराहना करता हुआ रहेगा। यानी आपको उम्दा किस्म के प्रदर्शन में कोई कमी नहीं छोड़ना चाहिये। चाहे वह तकनीक की शिक्षा हो या फिर पाठ्यक्रमों में शामिल शिक्षा हो निश्चित तौर पर बढ़ने की जरूरत रहेगी। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर व राशि स्वामी बुध का गोचर ख्यातिप्रद तो रहेगा। किन्तु गोचरीय क्रम में शिक्षा के मामलों में उतार-चढ़ाव इस माह बने रहने के आसार रहेंगे।स्वास्थ्यः अगस्त 2021 मे मिथुन राशि वाले अपने सेहत की वास्तविक क्षमता को जानने व पहचानने में लगे हुये रहेंगे। परिणामतः कमजोर हो रहे पहलुओं को सुधारने की तरफ ध्यान रहेंगा। क्योंकि राशि स्वामी श्री बुध का गोचर शरीरिक क्षमताओं को कमजोर करने वाला तथा रोग पीड़ा व भय उत्पन्न कर सकता है। अतः इस माह आपको अपने स्तर पर यह जांचने की जरूरत रहेगी कि जरूरत के अनुसार विटामिन्स व पौषाहारों को लिया गया है या नहीं, साथ ही घर व परिवार के साथ संबंधों में बढ़ते उतार-चढ़ाव व कार्य के क्षेत्रों में दबाव को क्रोध व चिंता में परिवरिर्तित न करें। अवसाद से दूर रहें। तथा किसी काम के सुस्त होने या फिर रूकने पर किसी पर फट न पड़े तो अच्छा रहेगा। यानी इस माह का गोचर सेहत के लिहाज से यद्यपि मिश्रित परिणामों को देने वाला रहेगा। यद्यपि मंगल का गोचर स्वास्थ्य को उर्जाविन्त करने वाला रहेगा। जिससे ताकत बनी हुई रहेगी। 

🕉0⃣4⃣🦀कर्क :~ ड, ह🔴: माह अगस्त 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:सूर्य इस मास 16 अगस्त से धन भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत् धन भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 08 अगस्त से धन भावगत गोचर तथा 26 अगस्त से पराक्रम भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत अष्टम भाव गत गोचर करेंगे। तथा श्री शुक्र 11 अगस्त से पराक्रम भावगत गोचर करेंगे। तथा श्री शनि पूर्ववत दारा भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर पूर्ववत आय भाव में एवं केतु का गोचर पूर्ववत सुत भाव में रहेगा।कैरियर एवं व्यवसायः अगस्त 2021 में कर्क राशि के जातक एवं जातिकाओं को इस माह की शुरूआत से ही कार्य व व्यापार को साधने की दिशा में सतत् यात्रा व प्रवास लिए तैयार रहने की जरूरत रहेगी। यानी श्री सूर्य का गोचर आपके कार्मिक व व्यापारिक उद्देश्यों को साधनें मे पूरा सहायक बना हुआ रहेगा। परिणामतः कामों को पूरा करने के लिए आपको लगातार भाग-दौड बनी हुई रहेगी। किन्तु यह गोचर आपके आत्मविश्वास व भरोसे को अच्छा करने वाला रहेगा। परिणामतः इस माह कुछ ऐसे फैसले लेगे जिनका असर आपके कार्य व व्यवसाय में सकारात्मक रहेगा। किन्तु मंगल का गोचर धन के अपव्यय को बढ़ाने वाला रहेगा। हालांकि यह व्यय कार्य व व्यापार को बढ़ाने में सहायक रहेगा। जिससे निजी व सरकारी क्षेत्रों की सेवाओं में बढ़त के अवसर बने हुये रहेंगे। यानी कठिनाइयों के बाद भी आपको कार्य व व्यापार में सफलता की सौगात को देने वाला रहेगा।प्रेम एवं संबंधः कर्क राशि अगस्त 2021 में इस राशि के जातक एवं जातिकायें स्वजन व संबंधियों से परस्पर सहयोग बढ़ाने और तय वक्त में कामों को पूरा करने का खाका खींचने में लगे रहेंगे। यानी घर व परिवार के प्रति अधिक ईमानदार रहने की जरूरत रहेगी। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर कई बार संबंधों में आक्रोश व गुस्से को देने वाला रहेगा। परिणामतः घर के सदस्यों की बातों को अनदेखा करते हुये रहेंगे। चाहे वह प्यार व निजी क्षेत्रों में भरोसे को बढ़ाने की बातें हो या फिर अन्य दूसरे क्षेत्रों की बातें हो आपको श्री भौम का गोचर कहीं न कहीं अचानक ही उत्तेजित करने वाला रहेगा। हालांकि मित्रों से सहयोग रहेगा। क्योंकि श्री शुक्र का गोचर इस माह के शुरूआत से लेकर सम्पूर्ण महीनें आपके प्रेम एवं संबंधों को जानदार बनाने वाला रहेगा। किन्तु आपको आवेग में आकर किसी प्रतिक्रिया से बचने की जरूरत रहेगी। यानी इस माह का गोचर शुभाशुभ दोनों ही तरह के परिणामों को देने वाला रहेगा।वित्तीय स्थितिः अगस्त 2021 में कर्क राशि के जातक एवं जातिकायें आर्थिक पहलुओं को सुधारने में बहुत ज्यादा परवाह करेंगे। जिससे वांछित बाजार में सम्भावनाओं को लेकर सतत् अध्ययन की जरूरत बनी हुई रहेगी। कि संबंधित उत्पादों को बेचने की कितनी सम्भावनायें हैं। यानी इस माह श्री सूर्य का गोचर उच्च प्रतिष्ठित लोगों के मध्य परस्पर तालमेल को देने वाला रहेगा। जिससे संबंधित सेवाओं को विस्तार देने व उत्पादनों के क्रय-विक्रय में सहमति बनी हुई रहेगी। किन्तु मंगल का गोचर अचानक ही तनाव को देने वाला रहेगा। ऐसे में किसी संस्था व व्यक्ति के प्रति तत्काल तीखी प्रतिक्रिया का गलत असर रहेगा। जिससे आगामी व्यापारिक व कार्मिक क्रिया-कलापों पर विपरीत प्रभाव उभरने के आसार रहेंगे। किन्तु शुक्र का गोचर इन सभी कठिनाइयों को दूर करने में सहायक बना हुआ रहेगा। परिणामतः रूकावटों के बाद भी धन लाभ का स्तर बना हुआ रहेगा।शिक्षा एवं ज्ञानः अगस्त 2021 में कर्क राशि के जातक एवं जातिकाओं को बौद्धिक स्तर को मज़बूती देने व संबंधित शिक्षा व व्यापारिक हुनर को बढ़ाने में अच्छी प्रगति के अवसर रहेगे। किन्तु इन कोशिशों में सफल होने के लिए अध्ययन का निश्चित क्रम बनाना रहेगा। यदि आप प्रतियोगी क्षेत्रों में शामिल हैं या फिर किसी कार्य व विषय के प्रायोगिक ज्ञान को अर्जित करने की मंशा हैं, तो इस माह के शुरूआत से ही यात्रा व प्रवास की स्थिति बनी हुई रहेगी। चाहे वह तकनीक ज्ञान को उच्च करने की बातें हो या फिर चिकित्सा व फिल्म के क्षेत्रों की बातें हो यह गोचर कहीं न कहीं अच्छा बना हुआ रहेगा। किन्तु मंगल का गोचर कहीं न कहीं अविश्वास व झगड़े की स्थिति को पैदा करने वाला रहेगा। किन्तु शुक्र का गोचर लक्ष्यों को स्मरण कराता हुआ रहेगा। जिससे छोटी-छोटी बातों को दरकिनार करते हुये इस माह शैक्षिक लक्ष्यों को भेदने में सक्षम रहेंगे। यानी अध्ययन में मन तो विचलित होता रहेगा।स्वास्थ्यः अगस्त 2021 के महीने मे कर्क राशि के जातक एवं जातिकाओं को शरीर को चुस्त व दुरूस्त रखने की दिशा में प्रगति रहेगी। हालांकि नियमित दिनचर्या के क्रम को अवरूद्ध होने से बचाने की जरूरत रहेगी। क्योंकि बढ़ती हुई कार्मिक व व्यापारिक जिम्मेदारियां मन को अधिक तंग कर सकती है। परिणामतः सेहत मेंं कुछ रोग व पीड़ाओं के उत्पन्न होने के आसार रहेंगे। क्योंकि श्री सूर्य का लग्नगत गोचर कहीं न कहीं सेहत में पीड़ाओं को देने वाला रहेगा। वहीं मंगल का गोचर भी सिर दर्द व नेत्रादि कष्टों को देने वाला रहेगा। यदि आप जोखिम भरे कामों को करने वाले हैं, तो सावधानी बनाकर चलने की जरूरत रहेगी। अन्यथा मंगल का गोचर चोटादि भय को देने वाला रहेगा। किन्तु शुक्र का गोचर आपके सेहत को काम के साथ आराम की तरफ भी ध्यान दिलाने वाला रहेगा। वहीं उपयोगी उपचारों की तरफ भी यह गोचर बढ़ाने वाला रहेगा। यानी अच्छे सेहत को पाने में सफल रहेंगे। 

🕉0⃣5⃣🦁सिंह :~ म, ट🔴: माह अगस्त 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:सूर्य इस मास 16 अगस्त से लग्न भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत लग्न भाव गत गोचर करेंगे। श्री बुध 08 अगस्त से लग्न भावगत तथा 26 अगस्त से धन भावगत गोचर करेगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् दारा भावगत गोचर करेंगे। श्री शुक्र 11 अगस्त से धन भावगत गोचर करेंगे। श्री शनि पूर्ववत रोग भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर कर्म भाव में एवं केतू का गोचर सुख भाव में रहेगा।कैरियर एवं व्यवसायः अगस्त 2021 सिंह राशि के जातक एवं जातिकायें इस माह के शुरूआत से ही पद व प्रतिष्ठा को पाने में सफल रहेंगे। तथा संबंधित क्षेत्रों में उचित समय में लिए गये उपयुक्त निर्णयों से लाभांन्वित होते रहेंगे। चाहे वह औद्योगिक क्षेत्रों की बातें हो या फिर निजी व सरकारी क्षेत्रों में सेवाओं को देने की पहल हो इस माह संबंधित मामलों को हल करने के लिए उत्साह व आत्मबल बना हुआ रहेगा। किन्तु एक स्थान पर टिक पाना मुश्किल सा बना हुआ रहेगा। क्योंकि ग्रहीय गोचर आपके कामों को पूरा करने के लिए इधर-उधर दौड़ाने वाला रहेगा। वहीं इस माह के तीसरे सप्ताह हालांकि कार्यालय की सुविधाओं को उच्च स्तर का बनाने में सक्षम रहेंगे। क्योंकि श्री शुक्र गोचर जहॉ कैरियर को शानदार बनाने सहायक रहेगा। वहीं कार्मिक व व्यवसायिक जीवन में सुख तथा सुविधाओं को देने वाला रहेगा। कुल मिलाकर छोटी-छोटी बातों में तीखी प्रतिक्रिया से बचें। क्योंकि मंगल व सूर्य का गोचर सहनशीलता व आलोचनों को सुनने की शक्ति को कमजोर करता रहेगा।प्रेम एवं संबंधः सिंह राशि वाले अगस्त 2021 में स्वजनों से लगाव के महत्व को समझते हुये  रहेंगे। जिससे परिजनों के मध्य लगाव रहेगा। हालांकि किसी सदस्य के आक्रोशित व अनावश्यक बातों को खींचना आपको चुभता रहेगा। कि द्वेष भावना से ऐसी बातें कर रहें है। हालांकि राशि स्वामी आपके आत्मविश्वास को बढ़ाने वाला रहेगा। जिससे प्रेम एवं संबंधों में उदारता बनाने की जरूरत रहेगी। वहीं मंगल का गोचर अचानक ही आपको उनके मध्य तीखी बहस को प्रेरित करने वाला रहेगा। चाहे वह दाम्पत्य जीवन की बातें हो या फिर घर व परिवार के बुजुर्गों से सहमति बनाने की बातें हो। ऐसे में पूरे ध्यान से चलने की जरूरत रहेगी। किन्तु शुक्र का गोचर इस माह रिश्तों की मधुरता को कमजोर होने से बचाता हुआ रहेगा। ऐसे में जो आपके दिल के करीब रहते या बसते हैं, उनसे छोटी-छोटी शिकायत होने पर भी दिल से चाहत बनी हुई रहेगी। अतः अपने स्तर पर झगड़ो से बचतें रहें किन्तु घर की मर्यादा बनायें रखें।वित्तीय स्थितिः अगस्त 2021 में सिंह राशि के जातक एवं जातिकायें अपने अर्थ तंत्र को मजबूती देने व कार्य व व्यापार को मुनाफे का सौदा बनाने में तत्पर रहेंंगे। इस दिशा में आपको संबंधित क्षेत्रों में अधिक लाभप्रदता को बनाने पर ध्यान देने की जरूर रहेगी। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर पूंजी निवेश व विदेश तथा संबंधित वित्तीय संस्थानों से लेन-देन के मामलों को निपटाने में सहायक रहेगा। किन्तु मंगल का गोचर आर्थिक व्यय को उच्च करने वाला तथा संबंधित मशीनों के दुरूस्ती करण व संगठित श्रम के उपार्जन में व्यय बढ़ाने वाला रहेगा। किन्तु शुक्र का गोचर इन सभी कोशिशों को वित्तीय लाभ के रूप में परिवर्तित करने के अवसरों को देने वाला रहेगा। यानी इस माह का गोचर यद्यपि संबंधित धन के संग्रहण व उसे कमाने में कठिनाइयों के देने वाला रहेगा। किन्तु सारांश व ग्रहीय गोचर के निष्कर्ष के रूप में यह कह सकते हैं, कि यह गोचर हालांकि विभिन्न मदों में व्यय को बढ़ाने वाला रहेगा। किन्तु  अर्थ लाभ देने वाला रहेगा।शिक्षा एवं ज्ञानः अगस्त 2021 में सिंह राशि के जातक एवं जातिकाओं को अपने ज्ञान को जांचने की जरूरत रहेगी। क्योंकि संबंधित क्षेत्रों में प्रतिद्वन्दी कड़े मुकाबले के लिए ललकारता हुआ रहेगा। वैसे इस माह के दो सप्ताहों तक ज्ञान को पाने व संबंधित शैक्षिक प्रयासों को सफल करने की दिशा में लगातार आगे बढ़ने की जरूरत बनी हुई रहेगी। परिणामतः किसी साक्षात्कार में शामिल होने या खेलादि में दूरस्थ स्थानों में प्रयास हेतु जाने की स्थिति रहेगी। क्योंकि राशि स्वामी श्री सूर्य का गोचर कई दफा आपके मन को सच से दूर ले जाता हुआ रहेगा। यानी शैक्षिक ज्ञान को बढ़ाने के बदले आप इधर-उधर की बातों में अपने समय को बेकार कर सकते हैं, अतः धैर्य कायम रखें। किन्तु इस माह के तीसरे सप्ताह से पुनः शिक्षा के क्षेत्रों में वांछित प्रगति के अवसर बने हुये रहेंगे। हालांकि मंगल का गोचर भी आपको कुछ मामलों में उत्तेजित करने वाला रहेगा। अतः धैर्य व संयम को बनाकर चले और विषयों की तैयारी में लगे रहें तो अच्छे परिणाम आपके पाले में रहेंगे।स्वास्थ्यः 2021 अगस्त में सिंह राशि के जातक एवं जातिकायें अपने सम्पूर्ण स्वास्थ्य को सुधारने में लगे हुये रहेंगे। क्योंकि राशि स्वामी श्री सूर्य का गोचर इस माह के पहले दो सप्ताहों से मन को इधर-उधर दौड़ाने वाला रहेगा। जिससे मानसिक व शारीरिक सेहत में विपरीत असर रहेंगा। वहीं मंगल का गोचर शरीर में चोटादि भय को उत्पन्न करता हुआ रहेगा। अतः कार्य जो कि जोखिम भरे हुये है। जिन्हें आप कर रहे हैं तो सुरक्षा कवच बनाकर ही चलें। हालांकि इस माह के तीसरे सप्ताह से पुनः राशि स्वामी का गोचर स्वराशि में रहेगा।  जिससे अधिकांशतः सेहत अच्छी रहेगी। यदि आप सुन्दर दिखना चाहती हैं, या फिर चाह रहें है।, तो श्री शुक्र का गोचर इस दिशा में बहुत ही कारगर बना हुआ रहेगा। हालांकि जो शरीर व त्वाचा के लिए विश्वसनीय व कारगर उपाय है। उनसे लाभ लें और उचित व्यायाम के क्रम को बनायें रखें तो अच्छा रहेगा। यानी इस माह सेहत में छोटी-छोटी पीड़ाओं के उभरने के आसार रहेंगे। 

🕉0⃣6⃣👸🏼कन्या :~ प, ठ, ण🔴 : माह अगस्त 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:सूर्य इस मास 16 अगस्त से व्यय भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत् व्यय भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 08 अगस्त व्यय भाव गत तथा 26 अगस्त से लग्न भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् रोग भाव गत गोचर करेंगे। तथा श्री शुक्र 11 अगस्त से लग्न भावगत गोचर करेंगे। तथा श्री शनि पूर्ववत पंचम भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर पूर्ववत भाग्य भाव में एवं केतु का गोचर पराक्रम भाव में रहेगा।कैरियर एवं व्यवसायः अगस्त 2021 कन्या राशि के जातक एवं जातिकाओं को उम्मीदों के अनुसार कार्य व व्यापार में सफल होने के आसार रहेंगे। चाहे व औद्योगिक इकाइयों को विस्तार देने की बातें हो या फिर दूसरे क्षेत्रों की आपको सतत् लाभ मिलता हुआ रहेगा। यदि आप छोटे-छोटें कामों से जुड़े हुये लघु स्तर के कर्मचारी व कारोबारी हैं, तो इस माह के पहले व दूसरे सप्ताहों तक अपने सम्पूर्ण कार्य व कारोबार को सुधारने में वांछित प्रगति बनी हुई रहेगी। किन्तु आपको अपने मन में उत्साह व जुनून की भावना को विस्तारित करने की जरूरत रहेगी। आपको संबंधित कच्चें माल की उपलब्धता को बढ़ाने व जरूरी तकनीक को जुटाने के अवसर रहेंगे। यदि आप सरकारी व निजी क्षेत्रों के कर्मचारी व अधिकारी हैं, तो यह माह आपके मान-सम्मान को बढ़ाने वाला रहेगा। किन्तु इस माह 17 अगस्त से संबंधित संस्था के द्वारा आपको किसी महत्वपूर्ण कार्य व व्यवसाय के प्रशिक्षण हेतु अवसर दिये जायेंगे। यानी बढ़ती हुई जिम्मेदारियों को निभाने के लिए तैयार रहना पड़ेगा।प्रेम एवं संबंधः कन्या राशि वाले अगस्त 2021 में घर में भाई व बहनों के मध्य अच्छे तालमेल को लेकर प्रसन्न होते रहेंगे। परिणामतः स्वजनों का संग आपको खुशी को देने वाला रहेगा। यदि आप दाम्पत्य जीवन में नन्हें मेहमान के आने का इंतजार कर रहें हैं, तो यह गोचर कारगर रहेगा। यानी आसानी से हंसने अवसर मिलेंगे। वहीं घर में ज्येष्ठ व वरिष्ठ जनों से मिलकर प्रसन्नता रहेगी। प्रेम संबंधों को लेकर उत्साहित रहेंगे। यानी संबंधित लोग जिन्हें आप चाहते या फिर चाहती हैं, वह आपके अन्तर मन को छूने के प्रयास में रहेंगे। जिससे परस्पर चाहत व विश्वास की शाखा संबंधों के मध्य फूट पडे़गी। यह गोचर हंसते हुये कल की ओर बढ़ाने वाला रहेगा। किन्तु शुक्र इस माह के पहले सप्ताह तक संबंधों को लेकर यात्रा व प्रवास को देने वाला रहेगा। कहने का अभिप्राय है। रिश्तों में नाराज होकर छोटी-छोटी बातों में वार व पटल वार से बचें और संबंधों में उन्हें भी महत्व दें तो अच्छा रहेगा। यानी यह गोचर अधिकांश अच्छे परिणामों को देने वाला रहेगा।वित्तीय स्थितिः 2021 अगस्त में कन्या राशि के जातक एवं जातिकायें सामान्य तौर पर इस माह कार्य व कारोबार से लाभांन्वित होते रहेंगे। इस माह के गोचर की अच्छी बात यह है कि वह शुरूआती दौर से ही आपके आर्थिक प्रयासों को उठाने में सक्षम बना हुआ रहेगा। जिससे मस्तिष्क में सकारात्मक विचारों का उदय रहेगा। ऐसे में आप अचानक से ही नहीं बल्कि सूझबूझ व पूरी ईमानदारी से कामों सफल बनाने में रहेंगे। यदि किसी निजी व सरकारी संस्थानों से कोई ऋण ले रखा हैं, तो उसे चुकाते रहेंगे। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर शुभ व सकारात्मक रहेगा। वहीं श्री भौम का गोचर भी हितवर्धक रहेगा। किन्तु मध्य माह के पश्चात् आर्थिक व्यय के बढ़ने व यात्रा तथा प्रवास हेतु जाने की स्थिति रहेगी। यानी आपके प्रयासों द्वारा पैदा हुये या किसी के सहयोग से प्राप्त अवसर लगातार आपके धन लाभ को बढ़ाने वाले रहेंगे।शिक्षा एवं ज्ञानः अगस्त 2021 कन्या राशि के जातक एवं जातिकाओं के लिए यह गोचर बहुत ही खास रहेगा। परिणामतः पढ़ने व रोजगार परक प्रशिक्षण को प्राप्त करने के अवसर इस माह रहेगे। जिससे आप अपने सम्पूर्ण विषयों में अच्छी समझ को विकसित करने में सक्षम  रहेंगे। क्योंकि श्री सूर्य व भौम का गोचर आपके आत्म विश्वास का कला कौशल को उन्नत करने के अवसरों को देने वाला रहेगा। चाहे वह तकनीक ज्ञान व हुनर को संवारने के अवसर हो या फिल्म व चिकित्सा के क्षेत्रों की बातें हो, सफल होने के अवसर रहेंगे। यानी पढ़ने लिखने व ज्ञान को बढ़ाने में एक ताकतदार व्यक्ति बनकर रहेंगे। वहीं शुक का गोचर हालांकि इस माह 11 अगस्त तक आपको संबंधित शिक्षण व प्रशिक्षण को सफल बनाने और प्रयोगिक परिणामों को जांचने के अवसरों को देने वाला रहेगा। किन्तु इन कोशिशों में अधिक परिश्रम व ध्यान से चलने की जरूरत रहेगी। किसी परिणाम व प्रयोग में अनुभवी व्यक्ति को पास रखें।स्वास्थ्यः अगस्त 2021 के महीने मे कन्या राशि क़े जातक एवं जातिकाओं को शारीरिक क्षमताओं को उच्च बनाने के अवसर बने हुये रहेंगे। यानी आप जीवन जीने की राह में अग्रसर रहेंगे। फलतः रोगप्रतिरोध क्षमतायें उन्नत होती रहेगी। वैस राशि स्वामी श्री बुध का गोचर इस माह लगातार भाग-दौड़ को देने वाला रहेगा। फलतः शरीर में थकान व पीड़ा के उभरने के आसार रहेंगे। अतः अपने खान-पान को नियमित करें और तामसिक आहारों के सेवन से बचते रहेंगे। तो अच्छा रहेगा। यानी इस माह सम्पूर्ण स्वास्थ्य को सुधारने व तंदुरूस्ती बढ़ाने की तरफ ध्यान देने की जरूरत रहेगी। क्योंकि श्री भौम का गोचर अवसाद, क्रोध जैसी प्रवृत्ति को बढ़ाने वाला रहेगा। अतः ऐसी छोटी-छोटी बातों में नकारात्मक भावना के वेग से बचते रहेंगे। तो निश्चित तौर पर रक्तादि विकारों को दूर करने में सक्षम होते रहेंगे। वहीं श्री सूर्य का गोचर भी हालांकि आपके स्वास्थ्य को सुन्दर बनाने व उसे सुधारने में अच्छा रहेगा। किन्तु इस माह 17 अगस्त से शरीर में रोग व नेत्रादि विकार या फिर चोटादि भय देने वाला रहेगा।  

🕉0⃣7⃣⚖तुला :~ र, त🔴 : माह अगस्त 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:सूर्य इस मास 16 अगस्त से आय भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत् से आय भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 08 अगस्त से आय भावगत तथा 26 अगस्त से व्यय भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् से सुत भाव गत गोचर करेंगे। तथा श्री शुक्र 11 अगस्त से आय भावगत गत गोचर करेंगे। शनि पूर्ववत सुख भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर अष्टम भाव में एवं केतु का गोचर धन भाव में रहेगा।कैरियर एवं व्यवसायः अगस्त 2021 तुला राशि के जातक एवं जातिकाओं को कार्य व कारोबार में गर्माहट व जोश से भरे अवसर रहेंगे। ऐसे में आप उन कामों को पूरा करने में सक्षम रहेंगे। जो कि जरूरी है। इसके अतिरिक्त आगामी योजनाओं की रूपरेखा खींचने तथा तय वक्त में कामों को पूरा करने व रिक्त पदों को भरने की बैठक संबंधित अधिकारियों के मध्य जारी रहेगी। यदि आप सामान्य स्तर के काम-काजी हैं तो संबंधित क्षेत्रों मान सम्मान पाने व वांछित स्थान बनाने में सक्षम रहेंगे। यदि आप पहली दफा किसी रोजगार की तलाश में जा रहे, तो यह गोचर आजीविका के प्रयासों को कामयाब करने वाला रहेगा। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर आपके श्रीयश को बढ़ाने वाला रहेगा। वहीं भौम का गोचर भी पदोन्नति व संबंधित क्षेत्रों में कीर्ति को देने वाला रहेगा। यानी इस माह का ग्रहीय गोचर कार्य व व्यापार में अच्छा रहेगा। हालांकि कार्य स्थल मे सहकर्मियों के साथ तालमेल बनाने जरूरत रहेगी।प्रेम एवं संबंधः अगस्त 2021 में तुला राशि के जातक एवं जातिकाओं को स्वजनों के साथ स्नेहमय वातावरण बनाने तथा कामों को सुधारने के अवसर रहेंगे। किन्तु प्रेम संबंधों में प्रभावी कदम उठाने के लिए और तत्परता से आगे बढ़ने की जरूरत रहेगी। एक दूसरे के प्रति विश्वास बढ़ाना व उन्हें भी समय देने की चुनौती रहेगी। क्योंकि इस माह के पहले व दूसरे सप्ताह तक जिन्हें आप चाहते व चाहती है। वह आपसे कुछ कफा-कफा बने हुये रहेंगे। किन्तु इसके पश्चात् रिश्तों में पुनः मधुरता का दौर बना हुआ रहेगा। निजी संबंधों में समझबूझ रहेगी। यदि संतान पक्ष को आगे बढ़ाने की कोशिश में हैं, तो यह गोचर शुभ व सकारात्मक परिणामों को देने वाला रहेगा। हालांकि राशि स्वामी शुक्र संबंधों को लेकर यात्रा व प्रवास देने वाली रहेगी। यानी इस माह आपको तीखी बहस से बचने की जरूरत रहेगी। और स्वजनों की पीड़ा को धैर्य पूर्वक सुनना व उसके निदान में यथोचित सहयोगी की जरूरत रहेगी।वित्तीय स्थितिः अगस्त 2021 में तुला राशि के जातक एवं जातिकायें धन लाभ के प्रति अधिक सजग बने हुये रहेंगे। परिणामतः धन लाभ को विस्तार देने में यह माह सहायक रहेगा। यानी यह माह संबंधित आय के स्रोतों से धन कमाने व उसकी उगाही के लिए भी अच्छा रहेगा। हालांकि कुछ विरोधी कमजोर करने में लगे हुये रहेंगे। अतः ऐसी बातों को नज़र अंदाज करना चाहिये जो कि आपके कार्य व व्यापार पर दुष्प्रभाव न डाल सकें। यानी इस माह संबंधित योजनाओं को चाहे वह सरकारी हो या निजी क्षेत्रों से जुड़ी हुई हो आपका लाभांश बढ़ा हुआ रहेगा। वहीं श्री सूर्य का गोचर इस माह के तीसरे सप्ताह से संबंधित आर्थिक पहलुओं को और मजबूती देने वाला रहेगा। आय खोजने व उन्नत करने के अवसरों को देने वाला रहेगा। वैसे राशि स्वामी श्री शुक्र इस माह के 12 अगस्त से आर्थिक पहलुओं को मजबूती देने लिए यात्रा व प्रवास में भेजने वाला रहेगा। यानी इस दौरान व्यय के बढ़ने के आसार रहेगे।शिक्षा एवं ज्ञानः अगस्त 2021 में तुला राशि के जातक एवं जातिकाओं को ज्ञान व शिक्षण के कामों को मजबूती देने के अवसर रहेंगे। यदि आप छात्र व छात्रायें हैं और वांछित विषयों में दाखिला चाहते हैं, तो यह गोचर सकारात्मक परिणामों को देने वाला रहेगा। यानी तकनीक व कम्प्यूटर विज्ञान, कला, साहित्य आदि के क्षेत्रों में वांछित लाभांश अर्जित होने के आसार बने हुये रहेंगे। यदि आप संबंधित प्रतियोगी क्षेत्रों व फिर रोजगार परक शिक्षा में अब्बल आने की मंशा से युक्त हैं, तो प्रयासों को जारी रखें, यह माह सफलताओं की राह को निर्मित करने वाला रहेगा। क्योंकि श्री शुक्र का गोचर शैक्षिक पहलुओं को सुधारने व बौद्धिक कुशाग्रता को अर्जित करने के उद्देश्य से लंबी व लाभकारी यात्रा में भेजने वाला रहेगा। इस दौरान संबंधित शैक्षिक पाठ्यक्रमों को बड़े ही आसानी से समझने के अवसर बने हुये रहेंगे। किन्तु कुछ मामलों में सहपाठियांं व शिक्षकों के मध्य तनाव उभर सकते हैं, अतः ऐसी बातों से बचना चाहिये जो कि आपके अध्ययन पर दुष्प्रभाव डालती हो।स्वास्थ्यः अगस्त 2021 के महीने मे तुला राशि के जातक एवं जातिकाओं को शरीरिक ऊर्जा को उन्नत करने के अवसर रहेंगे। यदि कोई रोग व पीड़ा हैं, तो उसे दूर करने में सक्षम रहेंगे। हालांकि राशि स्वामी श्री शुक्र की गोचरीय स्थिति इस माह 12 अगस्त से सेहत के प्रति बहुत सकारात्मक परिणामों को देने वाली नहीं रहेगी। अतः अपने खान-पान को संतुलित रखते हुये उचित योगासनों को करने में ध्यान देने की जरूरत रहेगी। यानी सम्पूर्ण सेहत की देख-भाल व उसे तंदुरूस्त बनाने की प्रक्रिया को और गति देने की जरूरत रहेगी। वैसे श्री सूर्य व भौम की गोचरीय स्थिति कहीं न कहीं अच्छे सेहत की ओर संकेत करती हुई रहेगी। जिससे नियमित दिनचर्या की ओर बढ़ते हुये रहेंगे। किन्तु राशि स्वामी शुक्र की गोचरीय स्थिति कई बार आपकी अच्छी नींद में खलल डालती रहेगी। कहने का अभिप्राय है। इस माह का गोचर मिश्रित परिणामों से युक्त रहेगा। किन्तु  रोगप्रतिरोध को विकसित करने में सजगता दिखानी रहेगी।

🕉0⃣8⃣🦂वृश्चिक :~ न, य🔴: माह अगस्त 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:सूर्य इस मास 16 अगस्त से कर्म भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत कर्म भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 08 अगस्त से कर्म भावगत गोचर तथा 26 अगस्त से आय भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् सुख भाव गत गोचर करेंगे। तथा श्री शुक्र 11 अगस्त से आय भावगत गोचर करेंगे। तथा श्री शनि पूर्ववत पराक्रम भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर दारा भाव में एवं केतु का गोचर लग्न भाव में रहेगा।कैरियर एवं व्यवसायः अगस्त 2021 में वृश्चिक राशि के जातक एवं जातिकायें कार्य व व्यापार के क्षेत्रों में स्वतः राह बनाने में लगे रहेंगे। परिणामतः कार्य व व्यापार में अच्छे लाभ के अवसर बने रहेंगे। इस माह का गोचर आपके सुख व सौभाग्य को उन्नत करने वाला रहेगा। चाहे वह निजी क्षेत्र हो या फिर सरकारी आपको ज्ञान को उम्दा करने के अवसर रहेंगे। यदि आप नीतिकार व फिर किसी संस्था के संचालक हैं, तो यह गोचर शानदार सफलता को देने वाला रहेगा। अतः अपने स्तर पर कार्य व कारोबार को विस्तार देने व स्वतः लंबित पड़े निर्णयों में संज्ञान लेने की जरूरत रहेगी। यदि आप निजी व सरकारी क्षेत्रों में रोजगार के अवसरों की तलाश में हैं, तो भी यह गोचर वांछित परिणामों को देने वाला रहेगा। यानी संबंधित सेवाओं में पदभार ग्रहण करने के अवसर रहेंगे। वहीं निजी क्षेत्रों में काम करने का तरीका लोगों के मध्य यकीन को बढ़ाने वाला रहेगा। किन्तु भ्रमण को देने वाला रहेगा।प्रेम एवं संबंधः वृश्चिक राशि अगस्त 2021 में इस राशि के जातक एवं जातिकाओं को स्वजनों के मध्य और उदार होने तथा समांजस्य को विकसित करने की जरूरत रहेगी। हालांकि ग्रहीय गोचर संबंधों में परस्पर चाहत को देने वाला रहेगा। यानी घर में लगाव व कुछ सदस्यों के मध्य तनाव दोनों ही पहलुओं से यह गोचर रूबरू कराने वाला रहेगा। यानी इस माह संबंधों में अधिकांशतः शुभ व सकारात्मक परिणाम रहेंगे। यदि कोई आपकी आलोचना भी करेगा तो उसे सुनने तथा गलतियों को सुधारने में सक्षम रहेंगे। यानी यह गोचर भावनात्मक रूप से परिपक्व बनाने वाला व घर परिवार में सकारात्मक माहौल देने वाला रहेगा। किन्तु जिन्हें आप अधिक चाहते हैं यानी जो आपके दिल के बहुत ही करीब है। उनके मध्य इस माह के 12 अगस्त तक खटपट बढ़ने के आसार रहेंगे। क्योंकि चाहत व कला को देने वाले श्री शुक्र कहीं न कहीं संबंधित मतभेदों का दौर लाते रहेंगे। जिससे उनकी खरी खोटी भी सुननी पड़ेगी।वित्तीय स्थितिः अगस्त 2021 में वृश्चिक राशि के जातक एवं जातिकायें नगदी कमाने व जुटाने में संलग्न रहेंगे। आपके द्वारा किए गए प्रयासों का बेहतर लाभ इस माह के पहले भाग से ही रहेगा। क्योंकि श्री सूर्य यश व कीर्ति को देने वाले तथा धन व सम्मान को दिलाने में सहायक रहेंगे। हालांकि संबंधित स्रोतों से लाभांश बढ़ाने के लिए अपने प्रयासों की पुनः समीक्षा करनी पडे़गी। किन्तु इस माह के 12 अगस्त श्री शुक्र का गोचर आपके अर्थ लाभ को उन्नत करने वाला रहेगा। जिससे अपने रहन-सहन को उच्च बनाने में संक्षम रहेंगे। व सुख सुविधाओं को जुटाने में रहेंगे। क्योंकि इस माह का गोचर ऐसी समझ को विकसित करता हुआ रहेगा। कि अर्थ लाभ बढ़ाने के वास्ते किन पहलुओं पर विशेष ध्यान दिया जाय और किन पर नहीं। कुल मिलाकर ग्रहीय गोचर के प्रभाव से उत्पन्न ऊर्जा अधिक लाभ को बढ़ाने की तरफ इशारा करती हुई रहेगी। यानी यह माह निश्चित तौर पर अधिक लाभ को देने वाला रहेगा। अतः आलस्य से बचने की जरूरत रहेगी।शिक्षा एवं ज्ञानः अगस्त 2021 में वृश्चिक राशि वालों को कठिन व पेंचीदें हो रहे किसी विषय चाहे वह तकनीक व सुरक्षा से जुड़े मामलें हो या फिर दूसरे क्षेत्रों से लाभ रहेगा। यदि आप लेखक व समीक्षक हैं या फिल्म निर्माता हैं, तो यह गोचर संबंधित क्षेत्रों में ख्याति दिलाने वाला रहेगा। क्योंकि राशि स्वामी श्री मंगल की गोचरीय स्थिति अच्छी रहेगी। वहीं शुक्र का गोचर भी आपके यश व कीर्ति को उच्च करने वाला रहेगा। जिससे संबंधित लेखन व प्रकाशन के क्षेत्रों में निरन्तर लाभ मिलता हुआ रहेगा। यानी इस माह शिक्षण व प्रशिक्षण के क्षेत्रों में और ताकतवार होकर उभरेंगे। फलतः कोई उम्दा किस्म की सफलता इस माह मिलने के आसार रहेंगे। वैसे श्री सूर्य का गोचर इस माह के तीसरे सप्ताह से अध्ययन व अध्यापन के क्षेत्रों में कड़ी चुनौती को देने वाला रहेगा। ऐसे में वांछित लक्ष्यों को भेदने के लिए लगातार आगे बढ़ने की जरूरत रहेगी। यानी आपका यकीन और पक्का रहेगा। कुल मिलाकर यह गोचर शुभ व सकारात्मक रहेगा। किन्तु छोटी-छोटी बातों में मन को विचलित करता रहेगा।स्वास्थ्यः अगस्त 2021 के महीने मे वृश्चिक राशि के जातक एवं जातिकाओं को सेहत को संवारने उसकी ताकत को उच्च करने के अवसर बने हुये रहेंगे। किन्तु यह आपके विवेक पर हैं, कि आप उनका प्रयोग किस प्रकार से करते हैं। यानी शरीर की ऊर्जा को कमजोर न होने दें, अन्यथा हानि की स्थिति बनी हुई रहेगी। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर इस माह बहुत हद तक आपके स्वास्थ्य को उच्च करने में सहायक रहेगा। वहीं राशि स्वामी श्री मंगल का गोचर यद्यपि शरीर में रोग व पीड़ाओं को देने वाला रहेगा। ऐसी स्थिति में आपको जरा से कष्ट में फौरन पेन किलर के सेवन से बचना चाहिए यानी शरीर में उत्पन्न रोग व पीड़ाओं को दूर करने के लिहाज यह गोचर अच्छा रहेगा। किन्तु उस ओर समुचित ध्यान देने की जरूरत रहेगी। क्योंकि पाप ग्रहीय प्रभाव कहीं न कहीं पीड़ाआेंं को देने वाला रहेगा। अतः अपने सूझबूझ को कमजोर करें, तो अच्छा रहेगा। यानी इस माह सेहत अच्छी रहेगी। किन्तु छोटे-छोटे विकारों से इंकार नहीं किया जा सकता है।

🕉0⃣9⃣🏹धनु :~ भ, ध,फ🔴 : माह अगस्त 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:सूर्य इस मास 16 अगस्त से भाग्य भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत् से भाग्य भावगत गोचर में रहेंगे। श्री बुध 08 अगस्त से भाग्य भावगत गोचर तथा 26 अगस्त से कर्म भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् पराक्रम भावगत गोचर करेंगे। तथा श्री शुक्र 11 अगस्त से कर्म भावगत गोचर करेंगे। तथा श्री शनि धन भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर रोग भाव में एवं केतु का गोचर व्यय भाव में रहेगा।कैरियर एवं व्यवसायः अगस्त 2021 धनु राशि के जातक एवं जातिकाओं को संबंधित खनन, कोयला, तेल, गैस व अन्य खनिजों से लाभ मिलता रहेगा। यदि आप किसी क्षेत्र में कमीशन व लाटरी आदि के कामों से जुड़े है, तो भी यह गोचर वांछित परिणामों को देने वाला रहेगा। किन्तु जोखिमों से इंकार नहीं किया जा सकेगा। अतः उचित सावधानी कायम रखें। यदि आप संबंधित निजी व सरकरी क्षेत्रों में सेवाओं को देने की मंशा से युक्त हैं, तो निश्चित तौर पर आपका लाभांश बना रहेगा। किन्तु संबंधित सेवाओं के सिलसिले में अयंत्र कहीं स्थान परिवर्तन के योग रहेंगे। कहने का अभिप्राय कि इस माह का गोचर हालांकि कुछ परेशानियों को देने वाला रहेगा। किन्तु कैरियर के क्षेत्रों में लगातर लाभ भी मिलता रहेगा। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर इस माह के पहले दो सप्ताहों तक कठिन परिश्रम को देने  वाला रहेगा। किन्तु इसके पश्चात् आपकी सोच से कहीं ज्यादा अच्छे परिणामों को देने वाला रहेगा।प्रेम एवं संबंधः धनु राशि अगस्त 2021 में धनु राशि के जातक व जातिकाओं को स्वजन व संबंधियों के मध्य अच्छे लगाव के अवसर रहेंगे। बहुत सम्भव है यह गोचर आपको किसी करीबी रिश्तेदार के यहॉ जाने के अवसरों को देने वाला रहेगा। इस माह के पहले दो सप्ताहों तक श्री सूर्य का गोचर हालांकि रिश्तों में तनाव को बढ़ाने वाला रहेगा। ऐसे में आपको किसी से द्वेष भावना से बचते हुये चलना चाहिये। यदि कोई आपसे नाराज हो जाता है, तो तत्काल पलटवार करने से बचें। यानी ग्रहीय गोचर कुछ समस्याओं को देने वाला रहेगा। किन्तु इसके पश्चात् ग्रहीय गोचर संबंधों में विश्वसनीयता को देने वाला रहेगा। आप जिन्हें दिल से चाहते व चाहती हैं उन्हें इस माह के पहले सप्ताह से ही आपसे शिकायत बनी हुई रहेगी। किन्तु आपको बौद्धिकता व धैर्य के क्रम को नहीं तोड़ना चाहिये। क्योंकि इस माह के तीसरे सप्ताह के आते-आते सूर्यादि ग्रह शुभ परिणामों को देने वाले रहेंगे। जिससे संबंधों में पुनः मधुरता की बयार रहेगी।वित्तीय स्थितिः अगस्त 2021 में धनु राशि के जातक एवं जातिकायें संबंधित क्षेत्रों में लाभ के स्तर को मजबूती देने में संलग्न रहेंगे। किन्तु इन प्रयासों में अधिक धन व्यय की स्थिति रहेगी। क्योंकि संबंधित भावों में ग्रहीय गोचर होने से लाभांश को बढ़ाने में शुरूआत से ही मशक्त रहेगी। हालांकि कुछ विरोधी आपके इन प्रयासों की निंदा कर सकते हैं, अतः संबंधित मामलों में अधिकारियों के साथ बैठक करने की स्थिति रहेगी। किन्तु इस माह के तीसरे सप्ताह से भौम व श्री सूर्य का गोचर आपकी आय को अच्छा करने वाला रहेगा। वहीं सुखद प्रवास की राह में अग्रसर करने वाला रहेगा। यानी इस माह का गोचर व्यय की अधिकता को देने वाला रहेगा। किन्तु कहीं न कहीं लाभांश को बढ़ाने वाला रहेगा। चाहे वह विक्रय व उत्पादन से जुडे़ क्षेत्र हो या फिर सूचना व संवादों के क्षेत्र हो यह माह आपकी आमदनी के लिए कमजोर होते हुये भी उसे आगामी समय में अच्छा करने वाला रहेगा।शिक्षा एवं ज्ञानः अस्गत 2021 में धनु राशि के जातक एवं जातिकाओं को संबंधित विषयों को तैयार करने व उनमें पैठ बनाने के अवसर रहेंगे। किन्तु इस माह के पहले व दूसरे सप्ताह से ही अध्ययन व अध्यापन को साधने के लिए सुखद यात्रा व प्रवास में जाने की जरूरत बनी हुई रहेगी। चाहे व तकनीक के क्षेत्र हो या फिर लेखन व साहित्य आदि के विषय हो। यह गोचर कहीं न कहीं उपयोगी रहेगा। हालांकि ग्रहीय गोचर मन को सतत् भटकाने वाला रहेगा। किन्तु 17 अगस्त से संबंधित कार्मिक कौशल व हुनर को संवारने के अच्छे अवसर बने हुये रहेंगे। और पुनः विषयों में आपकी समझ बढ़ी हुई रहेगी। यदि आप किसी प्रतियोगी परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं तो सफल रहेंगे। क्योंकि इस माह शुक्र व भौम का गोचर हित साधक रहेगा। यानी छोटी-छोटी बातों को छोड़ दे तो यह गोचर कहीं न कहीं अनुकूलता से युक्त रहेगा। अतः विषयों को मन से पढ़े।स्वास्थ्यः अगस्त 2021 के महीने मे धनु राशि के जातक एवं जातिकाओं को स्वास्थ्य को सुखद रखने के अवसर बने हुये रहेंगे। किन्तु यह बहुत हद तक आपके आचार व व्यवाहारों पर निर्भर रहेगा। क्योंकि ग्रहीय गोचर इस माह शरीर में रोग व कष्ट उभरने के संकेत कर रहा है। ऐसे में गुप्तांगों में पीड़ा व रोग हो सकते है। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर आपके मनः स्थिति को कुछ कमजोर करता हुआ रहेगा। गोचरीय क्रम में भौम भी कुछ परेशानी को देने वाला रहेगा। अतः कार्य व व्यापर के प्रति सजगता बनाकर चलने की जरूरत रहेगी। यानी खान-पान व नियमित आहारों को अवरूद्ध न करें व उपयोगी व जरूरी उपचारों को लेने में कोताही से बचें। तो अच्छा रहेगा। हालांकि रोग व पीड़ा से भयभीत होने की जरूरत नहीं है। बल्कि रोग न उभरे ऐसी दिनचर्या की तरफ जाने की जरूरत रहेगी। हालांकि इस माह 17 अगस्त से पुनः ग्रहीय गोचर शुभ व अच्छे परिणामों को देने वाला रहेगा।

🕉1⃣0⃣🐏मकर :~ ख, ज🔴 : माह अगस्त 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:सूर्य इस मास 16 अगस्त से अष्टम भाव गत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत् अष्टम भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 08 अगस्त से अष्टम भावगत तथा 26 अगस्त से भाग्य भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् धन भाव गत गोचर करेंगे। तथा श्री शुक्र 11 अगस्त से भाग्य भाव गत गोचर करेंगे। तथा श्री शनि पूर्ववत मकर राशि में गोचर करेंगे। राहू का गोचर पूर्ववत वृष राशि एवं केतु का गोचर पूर्ववत वृश्चिक राशि में रहेगा।कैरियर एवं व्यवसायः अगस्त 2021 मकर राशि के जातक एवं जातिकायें आजीविका के क्षेत्रों में ताकत अर्जित करने में रहेंगे। हालांकि इस माह सतत् यात्रा व प्रवास में जाने की स्थिति रहेगी। यदि आप इंजीनियरिंग, चिकित्सा, कला, फिल्म, संगीत के क्षेत्रों में अपने कैरियर को संवारने की मंशा रखते है। या इससे इतर जो भी क्षेत्र आपको दिलचस्प लगते वहॉ मान- सम्मान रहेगा। यदि आप किसी राजनैतिक पद के दावेदार हैं या फिर किसी प्रशासनिक पद भार ग्रहण की श्रेणी में तो यह गोचर अनुकूल रहेगा। बहुत सम्भव हैं इस माह का गोचर आपको पदोन्नति की तरफ बढ़ाने वाला रहेगा। वहीं निजी व सरकारी क्षेत्रों की सेवाओं में स्थानान्तरण के योग रहेंगे। क्योंकि श्री सूर्य व भौम के गोचर इस प्रकार के संकेत दे रहे है। अतः प्रयासों को पूरे मन से जारी रखने में कोताही न करें तो अच्छा रहेगा।प्रेम एवं संबंधः मकर राशि अगस्त 2021 में इस राशि के जातक एवं जातिकायें स्वजन व संबंधियों के मध्य घुले मिले रहेंगे। यदि आप घर मे छोटे हैं। तो किसी बुजुर्ग या वरिष्ठ व्यक्ति से कुछ आलोचनाओं को सुनना पड़ेगा। यानी कोई सदस्य आपको कुछ डाट दपट दे, तो तुरन्त तीखी प्रतिक्रिया में आमादा न हो अन्यथा गोचर क्रम संबंधों की मिठास को घरेलू झगड़ों की तरफ ले जाने वाला रहेगा। वहीं श्री सूर्य का गोचर आपके मनसूबों को उच्च करने वाला रहेगा। किन्तु निजी संबंध जिन्हें आप लेकर उत्साहित हैं या फिर जो आपके दिल में रहते या बसते हैं उन्हें मंगल का गोचर पीड़ित करने वाला रहेगा। वही श्री सूर्य भी ससुराली जनों के मध्य कुछ तनाव को देने वाले रहेंगे। अतः किसी को अप्रिय शब्द न कहें और यथा सम्भव धैर्य व विवेक से काम लें तो इस माह प्रेम संबंध मधुर रहेंगे।वित्तीय स्थितिः अगस्त 2021 में मकर राशि के जातक एवं जातिकायें धन कमाने व जुटाने की प्रक्रिया में लगातार आगे रहेंगे। किन्तु इन राहों में कुछ मुश्किलों के आने के भी संकेत रहेंगे। जिससे आपको ऐसा प्रतीत रहेगा। कि जिस मात्रा में उत्पादन व विक्रय का लक्ष्य रखा गया है। उस मात्रा में अर्थ लाभ नही मिल पा रहा है। ऐसे में आपको पुनः प्रयासों की समीक्षा की जरूरत बनी हुई रहेगी। कहने का अर्थ हैं कि इस माह के दो सप्ताहों तक अच्छे लाभ के अवसर रहेंगे। किन्तु इसके बाद पुनः आय की अपेक्षा व्यय का स्तर बढ़ा हुआ रहेगा। अतः संबंधित क्षेत्रों में उचित सावधानी बनाकर चलने की जरूरत रहेगी। क्योंकि विरोधी पक्ष अचानक ही किसी काम में उत्तेजना के चलते आर्थिक नुकसान देता रहेगा। अतः बौद्धिक स्तर व धैर्य के सहारे आपको बढ़ना चाहिये, अन्यथा फायदे का क्रम लगातर इस माह के तीसरे सप्ताह से गिरता हुआ रहेगा।शिक्षा एवं ज्ञानः अगस्त 2021 में मकर राशि के जातक एवं जातिकायें कमीशन, फिल्म कला, चिकित्सा, ऊर्जा आदि के क्षेत्रों में व्यापक लाभ को अर्जित करने में सक्षम होते रहेंगे। किन्तु पूरे मन व ईमानदारी से प्रयासों को जारी रखने की जरूरत रहेगी। क्योंकि इस माह के मध्य भाग तक श्री सूर्य का गोचर आपके हितों का साधक रहेगा। जिससे पढ़ने लिखने व कार्मिक ज्ञान को निखारने में अच्छी प्रगति रहेगी। किन्तु इसके पश्चात् भौम व सूर्य का गोचर किसी विषय के प्रायोगिक ज्ञान व प्रशिक्षण को लेकर भाग-दौड़ को देने वाला रहेगा। अतः किसी ऐसे प्रयोग व प्रशिक्षण में सावधानी रखें जो कि खरनाक हो, चाहे वह रसायन विज्ञान हो या फिर जीव विज्ञान व अन्य क्षेत्र के प्रयोग हो ऐसे शिक्षण में अनुभवी लोगों का साथ व सलाह लेकर ही कदम उठायें अन्यथा ग्रहीय गोचर चोटादि भय को देने वाला रहेगा।स्वास्थ्यः अगस्त 2021 मे मकर राशि के जातक व जातिकाओं को सेहत को ताकतवार बनाने व संबंधित क्षेत्रों में दक्षता पूर्वक कामों को पूरा करने में प्रगति होती रहेगी। अतः प्रयासों को पूरे मन से जारी रखें तो अच्छा रहेगा। हालांकि ग्रहीय गोचर सकारात्मक व नकारात्मक दोनों ही तरह के परिणामों की तरफ इशारा करता हुआ रहेगा। संयमित व नियमित दिनचर्या की तरफ लगातार कदम बढ़ाने की जरूरत बनी हुई रहेगी। वैसे श्री सूर्य का गोचर बहुत हद तक इस माह मध्यम किस्म का रहेगा। किन्तु इसके पश्चात् सेहत में रोग व पीड़ाओं के उत्पन्न होने के आसार रहेंगे। अतः जरूरी उपचारों के साथ ही नियमित व उपयोगी योगासनों को करने की जरूरत रहेगी। वहीं मंगल का गोचर तामसिक आहारों के सेवन की तरफ बढ़ाने वाला रहेगा। जो कि सेहत में रक्तादि विकारों को देने वाला रहेगा। यानी इस माह मिश्रित परिणामों की स्थिति बनी हुई रहेगी। 
🕉1⃣1⃣⚱कुंभ :~ ग, स, श, ष🔴 : माह अगस्त 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:इस मास श्री सूर्य 16 अगस्त से दारा भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत् दारा भावगत गत गोचर करेंगे। श्री बुध 08 अगस्त से दारा भाव गत तथा 26 अगस्त से अष्टम भावगत करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् लग्न भाव गत गोचर करेंगे। तथा श्री शुक्र 11 अगस्त से अष्टम भावगत गोचर करेंगे। तथा श्री शनि पूर्ववत व्यय भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर सुख भाव में एवं केतू का गोचर कर्म भाव में रहेगा।कैरियर एवं व्यवसायः अगस्त 2021 कुम्भ राशि के जातक एवं जातिकायें कार्मिक व व्यापारिक जीवन में प्रतिष्ठा अर्जित करने में सक्षम होते रहेंगे। क्योंकि इस माह के पहले भाग से ही श्री सूर्य का गोचर आपके लिए शुभ व सकारात्मक रहेगा। वहीं भौम का गोचर संबंधित तकनीक व शिक्षा के क्षत्रों में कठिनाइयों को देने वाला रहेगा। ऐसे में सहकर्मियों के मध्य विवादों की स्थिति रहेगी। यानी छोटी-छोटी बातों में किसी की जल्द आलोचना न करें, अन्यथा हानि रहेगी। यानी इस माह का ग्रहीय गोचर संबंधित क्षेत्रों में उम्मीदों से कम सकारात्मक रहेगा। किन्तु समृद्धि, संतोष तथा खुशी जैसे गुणों को जाग्रति करने की जरूरत रहेगी। यानी ग्रहीय गोचर खुद ही राह बनाने के अवसरों को देने वाला रहेगा। अतः संबंधित कार्य व व्यापार में सचेत रहे तो अच्छा रहेगा। कुल मिलाकर यह गोचर संबंधित कार्य व व्यापार में मिश्रित परिणामों को देने वाला रहेगा।प्रेम एवं संबंधः कुम्भ राशि अगस्त 2021 में इस राशि के जातक एवं जातिकायें इस माह के पहले मध्य भाग तक सगे संबंधियों व घर परिवार के मध्य चाहत व समांजस्य की राह में रहेगे। किन्तु स्वतः ही अन्दर से शान्ति की भावना को बहाल करने की जरूरत रहेगी।  क्योंकि मध्य माह में संबंधों में भौम व सूर्य का गोचर पीड़ा व रोगों को देने वाला रहेगा। हालांकि प्रेम संबंधों में कुछ विचलित होते रहेंगे। और तनावग्रस्त महसूस करते रहेंगे। अतः घर परिवार व निजी संबंधों में कुछ नरमी दिखाते हुए प्रभावकारी कदम बढ़ाने की जरूरत रहेगी। क्योंकि मंगल का गोचर अन्दर से अशान्त करता हुआ रहेगा। ऐसे में गुस्से को किनारें कर उनसे तसल्ली से बातें करें तथा प्रयास करें कि वह भी शांति ग्रहण करें। हालांकि शुक्र का गोचर कहीं न कहीं प्रेम संबंधों में खलल डालता रहेगा। जिससे संबंधों में समस्याओं की स्थिति रहेगी।वित्तीय स्थितिः अगस्त 2021 में कुम्भ राशि के जातक एवं जातिकायें आजीविका के क्षेत्रों में मान-सम्मान व पद की गरिमा को बनाने मे संलग्न रहेंगे। हालांकि कर्मेश भौम का गोचर दूरस्थ स्थानों की यात्रा व प्रवास देने वाला रहेगा। यदि सामान्य स्तर के कामगार हैं, तो भी यह गोचर अर्थ के क्षेत्रों में कुछ कठिनाइयों को देने वाला रहेगा। वहीं व्यापार व सेवाओं में भी धन लाभ का स्तर उच्च करने की चुनौती रहेगी। बहुत सम्भव है कि कुछ उत्पादन व विक्रय लक्ष्य बाधित रहेंगे। वहीं फिल्म, संगीत व लेखन में कोई विरोधी आपके प्रभाव को रोकने के लिए लगातार समीक्षाओं व लेखन द्वारा रोकने के प्रयास करता रहेगा। जो कि अर्थ लाभ को अवरूद्ध करने तथा आमदनी को कमजोर करने जैसा रहेगा। क्योंकि श्री शुक्र का गोचर प्रतिकूलता से युक्त रहेगा। कुल मिलाकर लाभ तो मिलेगा। किन्तु कठिनाई रहेगी।शिक्षा एवं ज्ञानः अगस्त 2021 में कुम्भ राशि के जातक एवं जातिकायें शैक्षिक पहलुओं को उच्च करने व संबंधित विषयों में अपनी समझ को बढ़ानें में लगातार सक्षम रहेंगे। चाहे वह चिकित्सा, अनुसंधान, कार्मिक व व्यापारिक हुनर को उच्च करने की बातें हो यह गोचर भाग-दौड़ देने वाला रहेगा। यानी इस माह ज्यादातर सफल होने के आसार रहेंगे। किन्तु अपने स्तर पर विषयों को दोहराने व उनकी तैयारी को पूरी ईमानदारी से जांच लें, हालांकि पापग्रहीय गोचर संबंधित क्षेत्रों में मति भ्रम व विषयों के अध्ययन से विमुख करने वाला रहेगा। ऐसे में पूरी सावधानी के साथ अध्ययन की जरूरत रहेगी। वहीं श्री शुक्र का गोचर इस माह 12 अगस्त से आपके कला कौशल व ज्ञान को उच्च करने वाला रहेगा। यानी कोई बड़ी किस्म की सफलता मिलने के आसार रहेंगे। बहुत सम्भव हैं किसी बड़े प्रयोग को सजगता के साथ इस माह करने में सक्षम रहेंगे।स्वास्थ्यः अगस्त 2021 के महीने मे कुम्भ राशि के जातक एवं जातिकाओं को सम्पूर्ण तंदुरूस्ती की तरफ बढ़ने की जरूरत रहेगी। क्योंकि ग्रहीय गोचर मध्यम किस्म के परिणामों को देने वाला रहेगा। हालांकि इस माह का ग्रहीय गोचर कहीं न कहीं शरीर को सुस्त करने व थकाने वाला रहेगा। किन्तु शुभ ग्रहीय स्थिति का प्रभाव होने से रोग व पीड़ाओं को दूर करने व तन को ताकतवार बनाने में सक्षम रहेंगे। यानी सेहत को सुधारने व रोग प्रतिरोध को बढ़ाने में सक्षम रहेंगे। ऐसे में मन प्रसन्न रहेगा। वैसे कई बार मन इधर-उधर दौड़ाकर परेशान करने वाला रहेगा। जिससे शारीरिक ऊर्जा का स्तर घटता रहेगा। वहीं स्वजनों के सेहत को लेकर भी माह के मध्य भाग में परेशानी रहेगी। क्योंकि वैवाहिक जीवन में सूर्य का गोचर 17 अगस्त से गुप्त रोगों की पीड़ाओं को देने वाला रहेगा। ऐसे में आपको संयमित दिनचर्या को साधने की जरूरत रहेगी।

🕉1⃣2⃣🐠मीन :~ द, च: 🔴
माह अगस्त 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:सूर्य इस मास 16 अगस्त से रोग भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत् रोग भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 08 अगस्त से रोग भावगत तथा 26 अगस्त से दारा भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् व्यय भावगत गत गोचर करेंगे। तथा श्री शुक्र 11 अगस्त से दारा भाव गोचर करेंगे। तथा श्री शनि आय भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर पराक्रम भाव में एवं केतू का गोचर भाग्य भाव में रहेगा।कैरियर एवं व्यवसायः अगस्त 2021 मीन राशि के जातक एवं जातिकायें कारोबार को गति देने व तय वक्त में कामों को पूरा करने लगे रहेंगे। इस माह का गोचर आपके कार्य व व्यापार को निरन्तर गति देने वाला रहेगा। किन्तु राजनैतिक व सामाजिक जीवन में विरोधियों की नीति को लेकर परेशानियों का दौर आ सकता है। किन्तु भौम का गोचर आक्रोशित करने वाला रहेगा। कहने का अभिप्राय है कि कार्य व्यापार के क्षेत्रों में यह गोचर मिलेजुले परिणामों को देने वाला रहेगा। हालांकि श्री सूर्य का गोचर संबंधित कार्य व व्यापार को लेकर सम्भावनाओं की खोज में इधर-उधर दौड़ाने वाला रहेगा। जो इस माह के 17 अगस्त से आपके लिए सार्थक होते रहेंगे। किन्तु शुक्र का गोचर 12 अगस्त के अगस्त के आस-पास विक्रय व उत्पादन तथा संबंधित बाजार में सम्भावनाओं की खोज में संबंधित पक्ष से परस्पर समझौतों के लिए भगाता हुआ रहेगा। अतः सावधानी जरूरी रहेगी।प्रेम एवं संबंधः मीन राशि अगस्त 2021 में इस राशि के जातक एवं जातिकायें स्वजनों की भावनाओं का आदर करते हुये रहेंगे। किन्तु ग्रहीय गोचर कुछ अतीत की यादों की तरफ ले जाने वाला रहेगा। जिससे रिश्तों के मध्य गर्माहट की कमी का अनुभव होता रहेगा। हालांकि श्री सूर्य का गोचर संतान पक्ष की उन्नति के अवसरों को देने वाला रहेगा। जिससे मन प्रसन्न रहेगा। किन्तु व्यापारिक व सियासी संबंधों को लेकर यह गोचर कुछ उतार-चढ़ाव को देने वाला रहेगा। हालांकि 17 अगस्त 2021 से पुनः संबंधों के साधने में प्रगति रहेगी। वहीं जो आपके दिल में रहते या बसते हैं उन्हें लेकर 11 अगस्त तक अधिक उत्साह रहेगा। जिससे उनके पसंद के स्वादिष्ट व्यंजन व वस्त्राभूषणों की खरीद जारी रहेगी। किन्तु इसके पश्चात् श्री शुक्र का गोचर संबंधित क्षेत्रों में अवरोधों को देने वाला रहेगा। ऐसे में अन्तर मन परेशान रहेगा। किन्तु हमदर्दी बनी रहेगी।वित्तीय स्थितिः अगस्त 2021 में मीन राशि के जातक एवं जातिकायें अर्थ लाभ को लेकर आत्मविश्वास से भरे रहेंगे। तथा उत्पादन व विक्रय के क्षेत्रों में बाजार की स्थिति भॉपते हुये अधिक से अधिक लाभ का खाका खींचते रहेंगे। यानी कुछ ऐसे ठोस तथ्यों व आधारों को अपने आर्थिक नीति में स्थान देगे। जो कि आपके धन लाभ के स्तर को पुख्ता करने वाला रहेगा। किन्तु ग्रहीय गोचर किसी अनजान व्यक्ति व स्थान में सावधानी बनाकर चलने के संकेत देता रहेगा। यानी इस माह के मध्य तक विशेष रूप से सम्पूर्ण अर्थ तंत्र को मजबूती देने की जरूरत रहेगी। किन्तु मध्य माह के बाद पुनः अर्थ मामलों में शुभ व सकारात्मक परिणामों की स्थिति रहेगी। जिससे लाभांश बढ़ा हुआ रहेगा। यदि आपने किसी को कहीं उधार में धन दे रखा है। तो उसके प्राप्त होने और ऋणों के भुगतान में अच्छी प्रगति रहेगी। ऐसे संकेत ग्रहीय गोचर दे रहे हैं।शिक्षा एवं ज्ञानः अगस्त 2021 में कुम्भ राशि के जातक एवं जातिकाओं को कार्मिक व कारोबारी हुनर को चमकाने के अवसर रहेंगे। ऐसे में सतत् प्रयासों को साधने की जरूरत बनी रहेगी। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर आपके लिए जहॉ यश व कीर्ति प्रदायक रहेगा। वहीं शुक्र का गोचर भी 11 अगस्त तक शिक्षण व प्रशिक्षण के क्षेत्रों में लाभ देने वाला रहेगा। यदि आप प्राथमिक शिक्षा या उच्च शिक्षा या फिर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में हैं तो यह माह आपके लिए शानदार सफलताओं को देने वाला रहेगा। किन्तु 12 अगस्त से कला, फिल्म, संवाद, सूचना के क्षेत्रों में सावधानी बनाकर चलने की जरूरत बनी रहेगी। क्योंकि शुक्र का गोचर संबंधित क्षेत्रों में आलोचनाओं को बढ़ाने वाला रहेगा। वहीं प्रतिद्वन्दी कड़े मुकाबले को देने वाला रहेगा।स्वास्थ्यः अगस्त 2021 मीन राशि के जातक व जतिकाओं को सेहत को सुडौल व सुन्दर बनाने के अवसर विद्यमान रहेंगे। हालांकि आपको यह कुछ चुनौती भरा प्रतीत होता रहेगा। क्योंकि राशि स्वामी कार्य व व्यापार में सतत् भाग-दौड़ देने वाले रहेंगे। वहीं श्री सूर्य का गोचर यद्यपि इस माह के पहले दो सप्ताहों तक कुछ परेशान करने वाला रहेगा। जिससे पेट में दर्द व रक्तादि विकार हो सकते है। अतः ऐसे पदार्थ जो विषाक्त हो तथा जो पौष्टिकता के गुणों से हीन हो उन्हें प्रयोग न करें। हालांकि ग्रहीय गोचर 17 अगस्त से पुनः शुभ व सकारात्मक परिणामों को सेहत में देने वाला रहेगा। जिससे शरीर में उत्पन्न रोग व पीड़ाओं से निजात मिलता रहेगा। और मन उत्साहित व तन पुलकित रहेगा। व शरीर की रौनकता बढ़ी हुई रहेगी। कहने का अभिप्राय है कि सेहत के मामलों मे यह माह अधिकांशतः शुभ परिणामों को देने वाला रहेगा।

શનિ અને અમેરિકાના અશ્વેત આંદોલનો

શનિ અને અમેરિકાના અશ્વેત આંદોલનો

શનિ અને અમેરિકાના અશ્વેત આંદોલનો

તમારી જન્મકુંડળીમાં શનિ જે સ્થાનમાં બેઠો હોય ત્યાં તમે વિદ્રોહ કરો છો. શનિ બળવાખોર છે. કુંડળીમાં 10મું સ્થાન સરકારનું સ્થાન છે. જ્યારે શનિ (કાળ પુરુષની કુંડળીમાં) 10મા સ્થાનમાં આવવાનો હતો ત્યારે જ અનેક જાણતલ જોશીડા આગાહી કરવા લાગેલા કે વિશ્વભરમાં સરકાર સામે આંદોલનો શરૂ થશે. ને જુઓ.. હોંગકોંગ હોય, અમેરિકા હોય કે બ્રિટન અનેક જગ્યાએ આપણે વિરોધ પ્રદર્શનો જોયાં. અમેરિકામાં જ્યોર્જ ફ્લોઇડ નામના અશ્વેત આધેડની હત્યા થઈ. તે પછી હજારો લોકો સડક પર ઊતર્યા અને સતત આંદોલન ચાલુ છે. શનિ વિવિધ જાતિઓ(Races, not castes)નું પ્રતિનિધિત્વ કરે છે. તેમાંથી એક છે આફ્રિકાના અશ્વેતો. ને આશ્ચર્ય તો જુઓ, આફ્રો-અમેરિકન અશ્વેતો અમેરિકન પોલીસ વિરુદ્ધ, ટ્રમ્પ સરકાર વિરુદ્ધ આંદોલન કરી રહ્યા છે. આ છે જ્યોતિષની કમાલ. તમારા જન્મના ગ્રહો અને ગોચરમાં ઘૂમતા ગ્રહોનું કોમ્બિનેશન મોટા ભાગનું ચિત્ર દેખાડી દે છે. આગામી બે વર્ષ સુધી શનિ મકરમાં રહેવાનો છે. ત્યાં સુધી સત્તાધીશોની ઊંઘ હરામ રહી શકે છે.

શનિ એ શ્રમનું પ્રતિક છે. 10મું સ્થાન સરકારનું. શનિ 10મા સ્થાનમાં આવતા સરકારોને કોરોનાને કારણે પારાવાર શ્રમ કરવો પડી રહ્યો છે. શનિની સાથે મંગળની યુતિ થતા તબીબો પર હુમલા થવા લાગ્યા. કારણ કે મંગળ હિંસાનો કારક છે. શનિ મંગળની યુતિ છૂટી પડી જતા હિંસક હુમલા બંધ થઈ ગયા. આ જ્યોતિષની મજા છે. આપણા ઋષિમુનિએ સહસ્ત્રાબ્દીઓ પહેલા સખત અભ્યાસ અને મેડિટેટીવ પાવર દ્વારા પ્રાપ્ત કરેલું જ્ઞાન આજે પણ અજર છે.

એસ્ટ્રોપથ

કુલદીપ કારિયા

ગ્રહ પીડાને શાંત કરવાનો ઉત્તમ ઉપાય મેડિટેશન

ગ્રહ પીડાને શાંત કરવાનો ઉત્તમ ઉપાય મેડિટેશન

કોઈ પણ ગ્રહની પીડાને શાંત કરવાનો એક ઉત્તમ ઉપાય છે મેડિટેશન. માનવ શરીરના સાત ચક્રો સાત ગ્રહો સાથે જોડાયેલા છે. મુલાધાર-મંગળ, સ્વાધિષ્ઠાન-બુધ, નાભિ ચક્ર-ગુરુ, હૃદય ચક્ર-શુક્ર, વિશુદ્ધી ચક્ર-શનિ, આજ્ઞાચક્ર- સૂર્ય, સહસ્રાર-ચંદ્ર. ધ્યાન કરવાથી આ ચક્રો સંતુલિત થવા લાગે છે અને ગ્રહોની પીડા શાંત પડી જાય છે. રોજ અડધા કલાકનું ધ્યાન જીવન ક્યારે બદલી નાખશે ખબર પણ નહીં પડે. હું કોઈ યોગી નથી. માત્ર જ્યોતિષ શાસ્ત્રનો અભ્યાસું છું. મારા અભ્યાસ દરમિયાન મારી જાણકારીમાં જે આવ્યું છે તે આપની સાથે વહેચીને ગમતાનો ગુલાલ કરું છું. મારી જાણકારી પ્રમાણે યોગ અને ધ્યાન આપણા જન્માંતરના બૂરા કર્મોને કાપવાનો શોર્ટકટ છે. ગ્રહોની પીડામાંથી મુક્તિ મેળવવાની મર્સી પીટીશન છે, જે ક્યારેય રીજેક્ટ થતી નથી.

એસ્ટ્રોપથ

કુલદીપ કારિયા

સોલર મિનિમમ: જ્યોતિષ શાસ્ત્રની દૃષ્ટિએ

સોલર મિનિમમ: જ્યોતિષ શાસ્ત્રની દૃષ્ટિએ

સોલર મિનિમમઃ જ્યોતિષશાસ્ત્રની દૃષ્ટિએ…

ખગોળ વિજ્ઞાન અનુસાર અત્યારે સોલર મિનિમમની ઘટના ઘટી રહી છે. સૂર્ય પર બહુ લાંબા સમયથી એક પણ સનસ્પોટ જોવા મળી રહ્યો નથી. તેના કારણે સૂરજની ગરમી ઘટી છે. જ્યોતિષમાં સૂર્ય સરકાર, સત્તા અને રાજનીતિનો કારક છે. આધુનિક વિજ્ઞાન અને જ્યોતિષ બંનેનો તાળો બહુ અદ્ભુત રીતે આપણને મળી રહ્યો છે. કેવીરીતે? એ જાણતા પહેલા સોલર મિનિમમ અને સોલર મેક્સિમમ શું છે એ ટૂંકમાં સમજી લો. સોલર મિનિમમ એટલે સૂર્ય પર એક પણ સનસ્પોટ જોવા ન મળે. પરિણામે તેમાંથી ગરમીનું ઉત્સર્જન ઘટે. તેનાથી ઊલટું, સોલર મેક્સિમમ દરમિયાન સૂર્ય પર સૌથી વધુ સનસ્પોટ સર્જાતા હોય છે. તે સમયગાળામાં સૂર્ય સૌથી વધુ ગરમી ફેંકે છે. આ સાયકલ 11 વર્ષના અંતરાલે અવિરત ચાલતી રહે છે.

જ્યોતિષશાસ્ત્ર અનુસાર જોઈએ તો સૂર્ય નબળો એટલે સરકાર નબળી. તો અત્યારે દુનિયાભરમાં એ જ તો થઈ રહ્યું છે. વિશ્વના મોટા-મોટા દેશોની સરકાર કોરોના સામેની લડતમાં વામન પુરવાર થઈ રહી છે. સરકારનો કંટ્રોલ ઘટ્યો છે. 2014માં સોલર મેક્સિમમની સ્થિતિ હતી. ત્યારે 81 સનસ્પોટ જોવા મળેલાં. ને ત્યારે જ ભારતમાં સ્પષ્ટ બહુમતવાળી શક્તિશાળી સરકાર સત્તામાં આવી. વિજ્ઞાનીઓ એવી આગાહી કરી રહ્યા છે કે 2022-23માં જબ્બર સોલર મેક્સિમમની સ્થિતિ સર્જાશે. ત્યારે 130 સૌરકલંક જોવા મળે તેવો અંદાજો છે. એના પરથી એવું અર્થઘટન કરી શકાય કે અત્યારે નબળી પડેલી સરકારો 2022-23માં પુનઃ શક્તિશાળી બનશે.

અમુક સોલર મિનિમમ વધારે લાંબા ચાલે છે. આ વખતે જોવા મળેલું સોલર મિનિમમ 100 વર્ષમાં સૌથી લાંબું પુરવાર થશે એવું અનુમાન લગાવાઈ રહ્યું છે. ને સરકારોને પણ સદીમાં એકાદ વખત જોવા મળે એવી મહામારી સામે ઝીંક ઝીલવાની આવી છે. સૂર્ય સરકારી નોકરીઓનો પણ કારક છે. શું એ આશ્ચર્યની વાત નથી કે જ્યારે સદીનું સૌથી મોટું સોલર મિનિમમ સર્જાવાની અણી પર છે ત્યારે સરકારે નવી સરકારી ભરતીઓ સ્થગિત કરી દીધી છે?

એસ્ટ્રોપથ

કુલદીપ કારિયા

વાસ્તવિકતામાં જીવતા લોકોને શનિ નથી નડતો

વાસ્તવિકતામાં જીવતા લોકોને શનિ નથી નડતો

શનિ. ભારતમાં સૌથી વધુ ગેરસમજનો શિકાર ગ્રહ. બધાને એમ હોય છે કે મને શનિ નડે છે, શનિ બહુ કષ્ટ આપે છે, પણ શું ખરેખર એવું છે? ના. શનિ વિશે જાણતા પહેલા એટલું ક્લિઅર સમજી લેવું જોઈએ કે દરેક ગ્રહ સારા અને ખરાબ ફળ આપે છે. કોઈ ગ્રહ ઉચ્ચનો હોય તો તે પણ કોઈને કોઈ તો ખરાબ ફળ આપવાનો જ. એક રીતે જોઈએ તો સારું શું અને ખરાબ શું એની વ્યાખ્યા બહુ સાપેક્ષ છે. આ વિશે દરેકનો મત ભીન્ન હોઈ શકે, કિંતુ ઇન જનરલ જોઈએ, સામાન્ય સંસારી મનુષ્ય તરીકે જોઈએ તો આપણને એક કોમન ડેફિનેશન મળી આવવાની. દા.ત. મેરેજ ન થવાને આપણે ખરાબ માનીએ છીએ. આમ આપણી દૃષ્ટિએ દરેક ગ્રહના પોઝિટીવ-નેગેટીવ રીઝલ્ટ્સ આપણને મળવાના. તે ગ્રહ ઉચ્ચનો હોય, સ્વરાશિમાં બિરાજમાન હોય તો તેના પોઝિટીવ રીઝલ્ટ્સ ઝાઝા હોવાના. ને કોઈ ગ્રહ શત્રુ રાશિમાં બેઠો હોય, નીચનો હોય તો તે નકારાત્મક પરિણામ વધારે આપશે. હવે પાછા મૂળ વાત પર.

શનિ શામાટે આપણને નથી ગમતો? કારણ કે શનિ વાસ્તવિકતાનો કારક છે. ચંદ્ર કલ્પનાનો કારક છે અને શનિ વાસ્તવિકતાનો. આપણા મનને કલ્પના ગમે છે અને વાસ્તવિકતા કઠે છે એટલે આપણને શનિના ફળ કડવા લાગે છે. જે વ્યક્તિ કલ્પનામાં નથી જીવતી, જે વ્યક્તિ હંમેશા પગ જમીન પર રાખે છે, જે વ્યક્તિ વાસ્તવદર્શી છે તેને શનિ ક્યારેય આકરો ગ્રહ લાગશે નહીં.

શનિની સાડાસાતી આવે ત્યારે તે ચંદ્રની નજીકથી પસાર થતો હોય છે. આથી આપણા કલ્પનાશીલ મનને વાસ્તવિકતાના કડવા ઘૂટડા પીવાનો વારો આવે છે, જે આપણને ગમતું નથી. અહીં પણ એ જ નિયમ લાગું પડશે. જે વ્યક્તિ વાસ્તવવાદી બનશે, સત્ય જોતા અને સ્વીકારતા શીખશે, પોતાની મર્યાદાઓને ઓળખશે તેને સાડાસાતી કઠિન લાગશે નહીં. અનુરાગ કશ્યપની ફિલ્મોમાં જેવી હાર્શ રિયલિટી દેખાડવામાં આવે છેને? શનિ બસ એટલો જ રિયલિસ્ટ છે.

શનિ કુંડળીમાં જ્યાં બેઠો હોય તે પ્રાપ્ત કરવા માટે તમારે કાળી મજૂરી કરવી પડે. કારણ કે શનિ લેબરનો કારક છે. શનિ બીજા સ્થાનમાં હોય તો પરિવાર અને ધન માટે મહેનત કરાવે, શનિ ચોથા સ્થાનમાં હોય તો પ્રોપર્ટી માટે મજૂરી કરાવે, પાંચમા સ્થાનમાં હોય તો બેચલર એજ્યુકેશન માટે હાર્ડવર્ક કરાવે. તમે મહેનતું છો, પરિશ્રમી છો તો ક્યારેય એવી ફરિયાદ કરશો નહીં કે મને શનિ નડે છે. શનિ બસ એટલું કહે છે, સખત મહેનત કરો. શનિને હાર્ડવર્કર્સ ગમે છે. માંઝી પિક્ચરના દશરથ માંઝી જેવા હાર્ડવર્કર્સ.

શનિને પ્રસન્ન કરવા આપણે શનિવાર રહીએ, શનિદેવની પૂજા કરીએ, શનિચાલીસા વાંચીએ, શનિનો મંત્રજાપ કરીએ એ બધું તો ખરું જ. એ સિવાય પણ શનિને પ્રસન્ન કરવાના અમુક પ્રેક્ટિકલ રસ્તા છે.

1. જ્ઞાતિવાદમાં ન માનો. કોઈને ઊંચા-નીચા ન ગણો. જે લોકો તેમની આર્થિક-સામાજિક સ્થિતિને કારણે તમારાથી પાછળ છે તેમનું ધ્યાન રાખો.

2. સફાઈકર્મીઓનો આદર કરો. તેમને મદદ કરો.

3. ભિક્ષુકોને દાન આપો.

4. વૃદ્ધોને પ્રસન્ન કરો.

5. ગરીબોને મદદ કરો.

6. બને તો જાતે સાફ-સફાઈ કરો.

7. ક્લાસ-4ના કર્મચારીઓને માન આપો. તેમને મદદ કરો.

8. ક્યારેય વચન ન તોડો.

મુહૂર્તની જેમ હોરામાં પણ કરી શકાય શુભ કાર્યો

મુહૂર્તની જેમ હોરામાં પણ કરી શકાય શુભ કાર્યો

મહૂર્તને બદલે હોરામાં પણ કરી શકાય શુભ કાર્યો..

હોરા વૈદિક જ્યોતિષનો બહુ જ રસપ્રદ વિષય છે. અંગ્રેજી શબ્દ hour હોરા પરથી ઊતરી આવ્યો છે. અવરનો અને હોરા બંનેનો અર્થ કલાક થાય છે. જ્યોતિષમાં જુદા-જુદા ગ્રહોને જુદી-જુદી કલાકો આપવામાં આવેલી છે. જે-તે ગ્રહની કલાકમાં તેને લગતા કામ કરવાથી સફળતાની સંભાવના વધી જાય છે. દિવસભર એક પછી બીજા અને બીજા પછી ત્રીજા ગ્રહની હોરા ચાલતી રહે છે. જેવીરીતે આપણે કોઈ શુભ કાર્ય શુભ મુહૂર્તમાં કરીએ છીએ તેમ જો તે કાર્યને લગતી હોરામાં કરીએ તો પણ ઉત્તમ પરિણામ મળે છે.

કયા ગ્રહની હોરામાં શું કરી શકાય?

સૂર્યઃ સૂર્ય રાજનીતિ, સત્તા, સરકારી નોકરી, પ્રકાશ, પિતા, આત્મવિશ્વાસ, હાડકાં ય, કીર્તિ વગેરેનો કારક છે. ખાસ કરીને કોઈ સરકારી કામ અટકતું હોય તો સૂર્યની હોરામાં કરવું જોઈએ.

ચંદ્રઃ ચંદ્ર મન, લાગણી, કવિતા, ખોરાક, માતા, પોષણ અને ધ્યાનનો કારક છે. મૂનની હોરામાં મેડિટેશન કરવાથી સહજ ધ્યાન લાગે છે. પૂનમની રાતે ધ્યાન કરવાનો મહિમા પણ ચંદ્રને કારણે જ છે.

ગુરુઃ ગુરુ કાયદો, વિદ્યા, ફાયનાન્સ, શિક્ષણ, આધ્યાત્મિક સાધના અને મેનેજમેન્ટનો કારક છે. આ બધા કામો ગુરુની હોરાથી શરૂ કરો તો ખૂબ ફાયદો થઈ શકે. ગુરુ બેન્કિંગનો પણ કારક હોવાથી બેંકને લગતા કામ ગુરુની હોરામાં થવા જોઈએ. ગુરુ તમને જૉબમાં પ્રમોશન અપાવી શકે.

શુક્રઃ શુક્ર ભૌતિકતા, આનંદ-પ્રમોદ, કલા, ફેશન, મહિલા, પ્રેમ, સહવાસ અને ફિલ્મનો કારક છે. તેને લગતા કામ શુક્રની હોરામાં કરવા જોઈએ. વાહન કે ઘરેણાની ખરીદી શુક્રની હોરામાં જ કરવી જોઈએ.

શનિઃ શનિ શ્રમ, સ્વચ્છતા, કોન્ટ્રાક્ટ, કમિટમેન્ટ, નોકર-ચાકર, ધીમી ગતિની કામગીરી આદિનો કારક છે. તેને લગતા કામ એ સમયમાં થઈ શકે.

બુધઃ બુધ વિદ્યા અભ્યાસ, સલાહ, કોમ્યુનિકેશન, વાણી, પ્રવાસ અને માહિતીનો કારક છે. તેને લગતા કામ બુધની હોરામાં થવા જોઈએ.

મંગળઃ મંગળ જમીન, પ્રોપર્ટી, સ્પોર્ટ્સ, એન્જિનિયરિંગ, ઇલેક્ટ્રિક અને ઇલેક્ટ્રોનિક્સનો કારક છે. તેને લગતા કામ મંગળની હોરામાં થવા જોઈએ.

રોજ જુદા-જુદા ગ્રહોની હોરાના કલાકો અલગ-અલગ હોય છે. બુધવારની હોરા આ પ્રમાણે રહેશે.

બુધ- 6.03 am, 1.03 pm, 8.03 pm, 3.03 am

ચંદ્ર- 7.03 am, 2.03 pm, 9.03 pm, 4.03

શનિ- 8.03 am, 3.03 pm, 10.03 pm, 5.03

ગુરુ- 9.03 am, 4.03 pm, 11.03 pm,

મંગળ- 10.03 am, 5.03 pm, 12.03 am

સૂર્ય- 11.03 am, 6.03 pm, 1.03 am

શુક્ર- 12.03 pm, 7.03 pm, 2.03 am

(આ હોરા રાજકોટના સૂર્યદય પ્રમાણે કાઢેલી છે. ધારો કે અમદાવાદમાં સૂર્યોદયનો સમય 5.55 વાગ્યાનો છે. તો અમદાવાદમાં પ્રથમ હોરા સવારે 5.55 વાગ્યાથી ગણાશે.)

Do auspicious work in auspicious Hora same as Muhurta

Do auspicious work in auspicious Hora same as Muhurta

Hora is beautiful concept in vedic astrology. We used to find muhurta for auspicious work. The way we should do auspicious work in hora of particular planet. Great sage Parashara coined the word hora. Hour is derived from Hora. Both have same meaning. Hora means hour of particular graha (planet). If you want to ensure success of your work, you should do the work in related hora

  • Sun: work related to government, politics, father, self confidence, boss, bone should be done in sun hora.
  • Moon: Work related to emotion, meditation, mother, milk, caring, food, poetry should be done in moon hora.
  • Mercury: Work related to phone call, communication, publishing, information sharing, social media should be done in this hora.
  • Jupiter:  Work related to meditation, spiritual sadhna, learning, teaching, finance, legality, advice should be done in this hora.
  • Venus: Work related to wife, Women, love, movies and entertainment and buying vehicle should be done in this hora.
  • Saturn: Work related to cleaning, contract, donation, labor, service should be done in this hora.
  • Mars: Work related to sports, Electronics, Engineering, property buying should be done in this hora.

Today’s hora (consider one hour from given time)

Sun: 10.05 am, 5.05 pm, 12.05 am

Venus: 11.05 am, 6.05 pm, 1.05 am

Mercury: 12.05 pm, 7.05 pm, 2.05 am

Moon: 6.05 am, 1.05 pm, 8.05 pm, 3.05 am

Saturn: 7.05 am, 2.05 pm, 9.05 pm, 4.00 am

Jupiter: 8.05 am, 3.05 pm, 10.05 pm, 5.05 am

Mars: 9.05 am, 4.05 pm, 11.05 pm,

Open chat